Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

डंडे से मारपीट कर अस्थि भंग करने वाले आरोपीगणो को 3 वर्ष का कारावास

Monday, September 9, 2019

/ by News Anuppur
अनूपपुर। कोतमा न्यायालय के न्यायाधीश जगमोहन ङ्क्षसह ने अपने प्रकरण में लाठी डंडे से की गई मारपीट तथा फरियादी की हड्डी टूटने पर आरोपी भागवत जायसवाल, हेमराज जायसवाल, रामउजागर जायसवाल को 3-3 वर्ष के कारावास की सजा सुनाई गई साथ ही आहात की शारीरिक व मानसिक पीड़ा के लिए उसे प्रतिकार स्वरूप 10 हजार पांच सौ रूपए आरोपी गण द्वारा दिलाए जाने का आदेश दिया गया। मामले की जानकारी देते हुए मीडिया प्रभारी राकेश पांडेय द्वारा अभियोजन अधिकारी कोतमा राजगौरव तिवारी के ने जानकारी देते हुए बताया की थाना कोतमा में आहत ब्रजमोहन द्वारा सूचना दी गई की 4 दिसम्बर 2013 को ग्राम जर्राटोला में 7 बजे सुबह फरियादी के घर के पास आरोपी भागवत जायसवाल, हेमराज जायसवाल, रामउजागर जायसवाल द्वारा फरियादी के साथ लाठी डंडा से मारपीट कर अपशब्दो का प्रयोग कर जान से मारने की धमकी दी गई। सूचना पर थाना कोतमा में अपराध क्रमांक 331/13 धारा 294, 323, 506, 34 के तहत मामला दर्ज कर मेडिकल कराया गया। मेडिकल में अस्थि भंग पाए जाने पर धारा 325 बढाई गई एवं आरोपीगण को गिरफ्तार कर अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। राज्य ओर से अभियोजन अधिकारी राजगौरव तिवारी  द्वारा प्रकरण के साक्ष्य न्यायालय में प्रस्तुत कराए व प्रकरण की गंभीरता व वस्तुस्थिति न्यायलय के समक्ष न्याय दृष्टान्तो के माध्यम से तर्क में प्रस्तुत की जिस पर न्यायलय द्वारा आरोपीगणो को 3-3 वर्ष के कारावास की सजा सुनाई साथ ही आहात की शारीरिक व मानसिक पीड़ा के लिए उसे प्रतिकार स्वरूप 10 हजार पांच सौ रूपए आरोपीगण द्वारा दिलाए जाने का आदेश पारित किया गया। न्यायाधीश जगमोहन सिंह ने यह की टिप्पणी रूपए न्यायालय के कहां कि अभियुक्तगण परिपक्व हैं, अपराध की प्रकृति गंभीर है आहत ब्रजमोहन को गंभीर छोटे आई हैं इस लिए अभियुक्तगण को परीवीक्षा का लाभ नहीं मिलेगा और उनके कृत्य को गंभीर मानते हुए ३-३ वर्ष के कारावास की सजा सुनाई।


No comments

Post a Comment

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR