Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

जादूटोना की शंका पर दोहरी हत्या को अंजाम देने वाला आरोपी गिरफ्तार

Wednesday, September 4, 2019

/ by News Anuppur
सिर और धड़ फिर न जुड़े इसलिए जमीन में गाड़ा था सिर
अनूपपुर। कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम दुधमनिया में 3 सितम्बर की सुबह हुए दोहरी हत्याकांड का खुलासा पुलिस ने 12 घंटे के अंदर कर दिया। जहां 4 सितम्बर को खुलासे में बताया की आरोपी शंकू सिंह पिता मोहन सिंह को धारा 302, 201 के तहत गिरफ्तार करते हुए उसके कब्जे से हत्या में प्रयुक्त किए गए गड़ासा एवं डंडा को जब्त कर आरोपी को न्यायालय में पेश कर दिया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। पूरे मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिषेक राजन ने बताया की आरोपी अंधविश्वासी था और अपने दूर के रिश्ते में 60 एवं 65 वर्षीय मामा-मामी पर जादू टोना की शंका पर दोनो की निर्मम हत्या कर दी। वहीं दोहरी हत्या का खुलासा करने में जहां पुलिस अधीक्षक किरणलता केरकेट्टा एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में कोतवाली निरीक्षक प्रफुल्ल राय, उपनिरीक्षक विशाखा उर्वेदी, सहायक उपनिरीक्षक पोहप सिंह बघेल, प्रधान आरक्षक अशोक गुप्ता, आरक्षक सुरेश, रामधनी तिवारी, दिनेश एवं राजेश कंवर द्वारा हत्या के आरोपी को पकडऩे में सराहनीय रही।
आरोपी ने बताया पूरा घटनाक्रम
कोतवाली निरीक्षक प्रफुल्ल राय ने बताया की आरोपी शंकू सिंह गोड़ से की गई पूछताछ में उसने बताया की वह भगवानदीन गोड़ और बेसहनी गोड़ दोनो पति पत्नी के जादूटोना से परेशान था, जहां 3 सितम्बर की सुबह लगभग 6.30 बजे उसे बेसहनी गोड़ बकरहा घाट के पास मिली, जहां उसने गड़ासे से उसके सर पर तीन वार कर उसका सर धड़ से अलग कर दिया और सिर को घटना स्थल से लगभग 800 मीटर दूर ले जाकर जमीन में गाड़ दिया और इसके बाद अपने घर आ गया। इस बीच सूचना मिलते ही मृतिका का पति भगवानदीन गोड़ अपने भांजे पप्पू के साथ अपनी का पत्नी का शव उठाकर अपने घर ले आया और पुलिस को सूचना देने के लिए आरोपी शंकू के घर से होकर सरपंच के घर फोन लगवाने जा रहा था। जहां अपने घर के सामने से भगवानदीन गोड़ को निकलते देख उसने भी गड़ासे से भगवानदीन के ऊपर कई वार कर उसकी हत्या कर दी, जिसे हत्या करते देख आरोपी की पत्नी और बच्चे अपना घर छोड़ कहीं भाग गए।
लखनपुर खोलइया के जंगल से आरोपी गिरफ्तार
जानकारी के अनुसार आरोपी को भगवानदीन गोड़ की हत्या करते आरोपी की पत्नी एवं बच्चे ने देख कर डर से घर छोड़ भाग गए। जिसके बाद आरोपी शंकू गोड़ ने हत्या के बाद घर में अपनी पत्नी एवं बच्चो के नही होने पर उन्हे गांव में ढूंढने निकल गया, जहां रास्ते में पड़ोसी रामप्रसाद गोड़ एवं नंदलाल गोड़ से पत्नी एवं बच्चो के संबंध में पूछा, जिस पर शंकू गोड़ के खून से सने कपड़ो एवं हाथ में गड़ासा लिए देख उन्होने उसे कुछ नही बताया। जिसके बाद आरोपी शंकू गोड़ उसी हालत में अपनी पत्नी एवं बच्चो को खोजते हुए जंगल की ओर निकल गया। जहां ३ सितम्बर की शाम लगभग ६ बजे पुलिस ने सूचना पर लखनपुर खोलइया के जंगल से घेराबंदी करते हुए गिरफ्तार किया गया।
बीते 14 वर्षो से जादूटोना से थे परेशान
पूछताछ में आरोपी शंकू गोड़ ने बताया की भगवानदीन गोड़ एवं उसकी पत्नी बेसहनी गोड़ द्वारा बीते 14 वर्षो से उस पर जादूटोना करती आ रही है, जिसके कारण उसे जनधन की हानि हुई। आरोपी ने बताया की जादूटोना करने से उसके 4 बैल, एक गाय, एक बछड़ा मर गए। इनमें से एक बैल उसे शासन द्वारा दिया था। इसके साथ ही आरोपी ने बताया की उसका पूरा परिवार कई वर्षो से बीमार चल रहा था, वहीं 4 माह पूर्व उसने अपना घर छोड़ कर उसे एक शिक्षिका को किराए से दे दिया था, जहां कुछ दिनो बाद वो शिक्षिका भी बीमार रहने लगी और उसके कुएं में आए दिन गंदगी डालने लगे थे।
धड़ से सिर फिर ना जुड़े इसलिए जमीन पर गाड़ा 
पूरे मामले में जहां आरेपी शंकू गोड़ ने पुलिस को चौकाने वाला दिया, जहां आरोपी ने पूछताछ में बताया की जादूटोना से कई वर्षो से परेशान होकर उसने सबसे पहले मृतिका बेसनिहा गोड़ के गले में गड़ासे से तीन बार वार कर सिर एवं धड़ को अलग कर दिया, जिसके बाद आरोपी ने फिर शंका के आधार पर की कहीं जादूटोना से धड़ और सिर फिर दोनो जुड़ न जाए जिसके कारण उसने सिर का उठाकर घटना स्थल से 800 मीटर दूर ले जाते हुए जमीन में डंडे व गड़ासे से गड्डा खोद गड़ा दिया।


No comments

Post a Comment

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR