Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

लैम्पस प्रबंधक राजेन्द्रग्राम पर आदिवासी कृषको से धोखाधडी करने की हुई शिकायत

Wednesday, September 4, 2019

/ by News Anuppur
चोरी के झूठे मामले में चौकीदार को फंसा मारपीट करने का भी आरोप
अनूपपुर। ऋण माफी के नाम से सीसी बनाकर धोखाधडी कर राशि हड़पने की शिकायत 3 सितम्बर को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिषेक राजन को लिखित शिकायत करते हुए बताया की गरीब अशिक्षित आदिवासियों के साथ लैम्पस प्रबंधक आदिम जाति सेवा सहकारी समिति राजेन्द्रग्राम रामयश शर्मा द्वारा 5 जुलाई को बहला फुसलाकर कहा की शासन द्वारा आपका ऋण माफ कर रहे है जिसके बाद ऋण पुस्तिका कार्यालय में जमा करना होगा और कागजो में हमसे सहमति कराकर अंगूठा लगवा लिया गया बाद में जब ऋण पुस्तिका मांगा गया तो उस पर बगैर आवेदन व हमारी सहमति के विपरित सीसी स्वीकृत कर हम लोगो के नाम ऋण कर्ज की राशि अंकित कर दी गई। जिसमें दीपा सिंह गोड़ पिता झगरू सिंह गोड़ निवासी हर्षवाह ऋण पुस्तिका क्रमांक 485113 से 5 जुलाई 2019 को 31 हजार 222 रूपए, खतही बाई पिता सरहू गोड़ उम्र 70 वर्ष निवासी हर्षवाह ऋण पुस्तिका क्रमांक 485542 में 28 हजार 746, सुखदेव सिंह पिता दीपा सिंह निवासी हर्षवाह ऋण पुस्तिका क्रमांक 485119 में 31 हजार 204 एवं सुखलाल पिता पिता झगरू गोड़ निवासी हर्षवाह ऋण पुस्तिका क्रमांक 444311 में 42 हजार 392 रूपए जबरन कर्ज की राशि अंकित कर दिया। इस तरह लैम्पस प्रबंधक द्वारा ऋण माफी के नाम बिना सहमत के ऋण पुस्तिका लेकर केसीसी तैयार कर कर्ज की संपूर्ण राशि हड़प कर ली गई। जिस पर सभी कृषको ने लैम्पस प्रबंधक राजेन्द्रग्राम रामयश शर्मा द्वारा की गई धोखाधडी की निष्पक्ष जांच कराई जाकर आरोपी के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही किए जाने की मांग की गई।
चौकीदार ने लैम्पस प्रबंधक पर अपशब्दो व मारपीट करने की शिकायत
दूसरे मामले में लैम्पस प्रबंधक रामयश शर्मा द्वारा चोरी का झूठा आरोप लगाकर नौकरी से निकाल जाति सूचक शब्दो से अपशब्दो का प्रयोग कर मारपीट कर धमकी दिए जाने की शिकायत अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिषेक राजन से की गई। जहां शिकायतकर्ता उदयभान सिंह पिता दीपा सिंह गोंड़ ने लिखित शिकायत करते हुए बताया की वह हर्षवाह थाना राजेन्द्रग्राम में विगत कई वर्षो से आदिम जाति सेवा सहकारी समिति में चौकीदार के पद पर कार्य रहा था। जहां लैम्पस प्रबंधक रामयश शर्मा द्वारा मुझसे खाद बिक्री भी कराते थे तथा खाद बिक्री की सम्पूर्ण राशि मेरे द्वारा संस्था में जमा कर दी जाती थी जो लैम्पस प्रबंधक स्वयं अपने पास रखते थे जहां 30 जून 2019 को रामयश शर्मा मुझे कार्यालय में बुलाकर कहने लगे की तुम 5 लाख रूपए चोरी कर लिए हो लाकर दो जहां मैने कहा चोरी नही करने की बात की और अगर किया हॅू तो आप थाने में मेरे ही खिलाफ रिपोर्ट कर जांच करवा लिए जाने की बात कही, लेकिन लैम्पस प्रबंधक द्वारा दो माह बीत जाने के बाद भी रिपोर्ट दर्ज नही कराई और मुझे चोरी के झूठे आरोप लगाकर जातिगत अपशब्दो का प्रयोग कर मारपीट करते हुए कार्यालय से धक्का मार के बाहर निकाल दिया। जिस पर उदयभान सिंह ने कहा की रामयश शर्मा मुझे चोरी के झूठे आरोप लगाकर जातिगत अपशब्दो के प्रयोग करते हुए मारपीट करने पर रामयश शर्मा के खिलाफ रिर्पोट दर्ज करने की मांग की गई।


No comments

Post a Comment

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR