Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

सोशल मीडिया में वॉयलर मैसेज डीजल चोरी के मामले में १८ घंटे बाद हुई एफआईआर दर्ज

Tuesday, September 3, 2019

/ by News Anuppur

थाना प्रभारी भालूमाड़ा की कार्यप्रणाली से पुलिस हुई बदनाम
अनूपपुर। सोशल मीडिया में 1 सितम्बर की सुबह लगभग 6 बजे पुलिस ने डीजल चोरी करने वाले दो आरोपियों सहित एक बेलोरो वाहन को पकड़ा कुछ देर बाद थाना प्रभारी भालूमाड़ा द्वारा रूपए लेकर छोड़ दिए जाने का मामले का मैसेज एवं वाहन एवं आरोपियों को फोटो सोशल मीडिया में वायरल हो गया। मैसेज वॉयल होने के बाद जहां भालूमाड़ा पुलिस ने पहले तो पूरे मामले में अनभिज्ञता जाहिर की गई, जिसके बाद मामला को तूल पकड़ते देख थाना प्रभारी भालूमाड़ा ने 1 सितम्बर की रात लगभग 10.51 पर दो आरोपियों मामला पंजीबद्ध किया गया, जिसमें दो आरोपियों शिव प्रसाद उर्फ छोटू निवासी ग्राम सिलपुर एवं टीकमदास यादव निवासी ग्राम बर्री के खिलाफ मामला पंजीबद्ध किया गया है। लेकिन पुलिस द्वारा पकड़े गए दोनो आरोपी एवं वाहन 3 सितम्बर तक थाने से लापता है।
यह है मामला 
भालूमाड़ा थाना क्षेत्र अंतर्गत 1 सितम्बर की सुबह लगभग 2 बजे बदरा एमएन सिंह पेट्रोल पंप के पास खड़े ट्रक से डीजल चोरी करते दो आरोपियों शिव प्रसाद उर्फ छोटू एवं टीकमदास यादव सहित बोलेरो वाहन क्रमांक एमपी 65 अी 1164 को जब्त किया गया, जहां सुबह तक भालूमाड़ा पुलिस ने वाहन सहित दोनो आरोपियों को छोड़ दिया गया था। वहीं वाहन आरोपियों को छोड़े जाने में जहां थाना प्रभारी मनोज दीक्षित ने आरोपियों से मोटी रकम भी वसूली गई थी। जहां पूरा दिन सोशल मीडिया में वॉयरल हुए इस मैसेज से जिले की पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो गए और वहीं भालूमाड़ा थाना प्रभारी मनोज दीक्षित सहित कुछ पुलिस कर्मियो पर 50 हजार की रिश्वत लेने का आरोप भी लगा। जिससे पुलिस प्रशासन की जमकर किरकिरी हुई।
डीजल चोरी के मामले में पहले जताई अनभिज्ञता
पूरे मामले में जहां थाना प्रभारी मनोज दीक्षित सहित भालूमाड़ा पुलिस से डीजल चोरी के मामले के संबंध में मीडिया ने जानकारी हासिल की गई, जहां थाना प्रभारी भालूमाड़ा द्वारा डीजल चोरी में पकड़े गए बोलेरो वाहन एवं दो आरोपियों को पकड़े जाने पर अनभिज्ञता जताई। जबकि पूरे मामले में विश्वविद्यालय अमरकंटक में हुए विवाद पर गए थाना प्रभारी भालूमाड़ा से एएसआई एवं आरक्षक द्वारा मामले को संज्ञान में लेते हुए वाहन सहित दोनो आरोपियों को छोडऩे के बदले 50 हजार रूपए में सौदा किए जाने की जन चर्चा भी सोशल मीडिया में जमकर वॉयरल हुई। इतना ही नही सोशल मीडिया में वॉयरल हुए फोटो के बाद जहां थाना प्रभारी भालूमाड़ा ने एफआईआर दर्ज करने के एक दिन पहले तक इस तरह की कोई घटना होने की जानकारी भी मीडिया को उपलब्ध कराई, जिसके बाद फिर एैसा क्या हुआ की थाना प्रभारी को अचानक दूसरे दिन एफआईआर करना पड़ गया।
सोशल मीडिया में वॉयरल के बाद हुई एफआईआर
पूरे मामले में जहां पुलिस प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल उठते देख थाना प्रभारी भालूमाड़ा मनोज दीक्षित ने 12 घंटे बाद 1 सितम्बर की रात लगभग 10.51 बजे तीरथ प्रसाद पिता त्रिवेणी प्रसाद गोस्वामी उम्र 26 वर्ष निवासी बांका टोला दैखल की शिकायत पर दो आरोपियों शिव प्रसाद उर्फ छोटू एवं टीकमदास यादव के खिलाफ धारा 379 के तहत मामला दर्ज किया। वहीं पूरे मामले में शिकायत कर्ता ने बताया की वह एमएन सिंह पेट्रोल पंप में नौकरी करता है और 1 सितम्बर की सुबह लगभग 1.15 बजे बोलेरो वाहन क्रमांक एमपी 65 टी 1164 में जरीकेन रख रहे थे और मुझे देखकर गाडी स्टार्ट कर जाने लगे तब तक पुलिस की गाड़ी आ गई और उन्होने बोलेरो वाहन रोक उसमें बैठे दो आरोपियों शिव प्रसाद एवं टीकमदास को थाने ले गए। जहां पेट्रोल पंप के पास खड़े ट्रक क्रमांक सीजी 04 जेडी 3511 का ड्राइवर ने मुझ बताया की रात के समय किसी ने उसके ट्रक से 40 लीटर डीजल कीमती 2800 रूपए चोरी कर ले गया है।
थाना प्रभारी भालूमाड़ा पर उठे सवाल
पूरे मामले में जहां पुलिस ने एफआईआर पर बोलेरो वाहन को पकडऩे एवं उसमें बैठे दो आरोपियों जिनमें शिव प्रसाद एवं टीकमदास यादव को पकड़ कर भालूमाड़ा थाना ले जाना दर्ज है। वहीं दूसरी ओर भालूमाड़ा थाना में न तो उक्त बोलेरो वाहन खड़ी है और न ही पकड़े गए दो आरोपियों को पता है, जो भालूमाड़ा थाना प्रभारी मनोज दीक्षित पर कई सवाल खड़े कर रहे है। इतना ही नही ट्रक क्रमांक सीजी 04 जेडी 3511 के ड्राइवर ने अपने ट्रक से डीजल चोरी की शिकायत भी दर्ज नही करवाई है। आखिरकार पुलिस द्वारा पकड़े गए दो आरोपियों एवं वाहन को छोड़ दिए जाने एवं सोशल मीडिया में वॉयरल हुई डीजल चोरी की कहानी को साबित करते हुए उन्हे छोडऩे के बदले ली गई मोटी रकम भी सही साबित हो गई है। अब देखना है इस पूरे मामले में की गई लीपापोती पर थाना प्रभारी मनोज दीक्षित एवं संलिप्त पुलिस कर्मियो पर पुलिस प्रशासन क्या कार्यवाही करती है।
इनका कहना है
पूरे मामले की जांच एसडीओपी कोतमा को जांच के निर्देश दिए गए है।
किरणलता केरकेट्टा, एसपी अनूपपुर

इनका कहना है
पुलिस अधीक्षक अनूपपुर से पूरे मामले की जानकारी लेकर दोषियो के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। वहीं आरोपियों एवं वाहन थाने में नही है इसकी जांच कराई जाएगी।
एस.पी. ङ्क्षसह, आईजी शहडोल


No comments

Post a Comment

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR