Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

जेल की गाड़ी रोककर आरोपीगणों को भगाने वाले आरोपियों को कारावास

Thursday, January 9, 2020

/ by News Anuppur
अनूपपुर। न्यायालय विशेष न्यायाधीश डॉ. सुभाष कुमार जैन जिला एवं सत्र न्यायाधीश के न्यायालय द्वारा सत्र प्रकरण क्रमांक 65/15 की सुनवाई पूरी करते हुए आरोपी राजा जायसवाल उम्र 23 वर्ष पिता स्व. आनंद जायसवाल निवासी रामपुर थाना अमलाई एवं दीपक सिंह उर्फ  दीपू सिंह पिता दिनेश बहादुर सिंह उम्र 30 वर्ष निवासी विवेकनगर थाना भालूमाड़ा को धारा 332 के अंतर्गत 2 वर्ष का सश्रम कारावास एवं एक हजार रूपए के अर्थदंड, धारा 225 सहपठित धारा 120 बी में 1 वर्ष का सश्रम कारावास एवं एक हजार रूपए का अर्थदंड तथा भादवि की धारा 342 के अंतर्गत 6 माह का सश्रम कारावास एवं पांच सौ रूपए के अर्थदंड का दंडादेश पारित किया है। राज्य की ओर से मामले में पैरवी जिला अभियोजन अधिकारी रामनरेश गिरि द्वारा की गई। उन्होंने बताया कि तत्कालीन समय में उपरोक्त अपराध के कारण पुलिस कर्मचारीगण जिनकी ड्यूटी अभियुक्तों को जेल से लाने-एवं ले जाने में लगती थी काफी भय व्याप्त हो गया था। मामला गंभीर होने से राज्य द्वारा मामले को गंभीर एवं सनसनीखेज की सूची में शामिल किया गया। मीडिया प्रभारी राकेश कुमार पांडेय ने बताया कि आरक्षी केन्द्र कोतवाली में ११ दिम्बर २०१४ को आरक्षक ओमप्रकाश शर्मा द्वारा लिखित आवेदन दिया गया कि उसकी ड्यूटी थाना चचाई के अपराध क्रमांक 314/14 के 4 आरोपीगण एवं अपराध क्रमांक 315/14 के आरोपीगण को शासकीय वाहन क्रमांक एमपी 03/ए 2246 में फोर्स के साथ न्यायालय अनूपपुर पेश करने के लिए जेल वारंट बनने के बाद जेल दाखिल करने के लिए लगी थी, फोर्स के अन्य पुलिस अधिकारी- कर्मचारी मेरे साथ थे न्यायालय अनूपपुर में आरोपीगण की पेशी के पश्चात् जेल ले जाते समय अनूपपुर न्यायालय से लगभग 2 किमी दूरी पर चंदास नदी के किनारे अंडर ब्रिज के पास पीछे से सफेद रंग की चार पहिया वाहन ने ओवरटेक कर तिराहे के सामने रोड में अड़ाकर खड़ी कर दिया, जिससे पुलिस वाहन को रोक दिया और चार पहिया वाहन से आरोपीगण उतरकर अभियुक्त सुनील को भगाने लगे। अभियुक्त सुनील शासकीय वाहन से झपटा मारकर भागने लगा। प्रधान आरक्षक विजय बुंदेला, आरक्षक रितेश सिंह और फरियादी ओमप्रकाश शर्मा बदमाशों को रोकने एवं सुनील को पकडऩे दौड़े सुनील को विजय बुंदेला एवं रितेश ने उनके वाहन को रोकने का प्रयास किया, लेकिन बदमाश उसे पकड़कर अपनी गाड़ी में बंद कर ले जाने लगे तब आरोपीगण उसके साथ मारपीट करते हुए पुलिस वाले को आगे जाकर गाड़ी से कुचलकर जान से मार दिए। लगभग आधा किमी आगे जाने पर गाड़ी की चाबी खींचने पर जब गाड़ी रूक गई तब पीछे से पुलिस फोर्स पीछा करते हुए पहुंच गई बीच में बैठा राजा जायसवाल भाग गया लेकिन दीपू सिंह पकड़ गया। कोतवाली अनूपपुर द्वारा आरोपीगण के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध कर संपूर्ण विवेचना पश्चात् मामला न्यायालय में प्रस्तुत किया गया है जहां पर न्यायालय द्वारा आरोपी को दोषी पाते हुए आरोपियों को उपरोक्त दंड से दंडित किया गया।

No comments

Post a Comment

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR