Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

लाॅकडाउनः 3 दिन पहले बिलासपुर से पैदल चलकर भूखे प्यासे कटनी जिले के 33 मजदूर पहुंचे अनूपपुर, वेंकटनगर पुलिस एवं पंचायत ने कराया भोजन

लाॅकडाउनः 3 दिन पहले बिलासपुर से पैदल चलकर भूखे प्यासे कटनी जिले के 33 मजदूर पहुंचे अनूपपुर, वेंकटनगर पुलिस एवं पंचायत ने कराया भोजन

Friday, March 27, 2020

/ by News Anuppur


वेंकटनगर। देशव्यापी लाॅकडाउन के कारण छत्तीसगढ़ में जिला कटनी के फंसे 33 मजदूर बस, ट्रेन व अन्य आवागमन के सभी साधन पूरी तरह से बंद हो जाने एवं छत्तीसगढ़ सरकार से कोई राहत नही मिलने पर सभी मजदूरों ने बिलासपुर से 25 मार्च को पैदल अपने घर के लिए निकले थे। जहां उन्होने पैदल चल 27 मार्च की दोपहर लगभग 4 बजे म.प्र. के अनूपपुर जिला स्थित ग्राम पंचायत कपरिया पहुंचे। वहीं लगातार पैदल चलने एवं भूख और प्यास से परेशान सभी मजदूरों ने ग्राम कपरिया के एक खेत में अपना डेरा डाल दिया और पंचायत से सभी मजदूरों ने भूखे होने पर खाने की मांग की गई, जहां ग्राम पंचायत ने इतनी संख्या में बाहरी व्यक्ति के ग्राम कपरिया पहुंचने की सूचना वेंकटनगर पुलिस को दी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची वेंकटनगर पुलिस ने उनसे यहां तक पहुंचने के संबंध में जानकारी ली, जिस पर सभी मजदूरों ने अपना घर ग्राम जमुनिहा तहसील ढ़ीमरखेड़ा थाना पान उमरिया जिला कटनी का होना बताए। मजदूरों ने बताया की वह बिलासपुर रेलवे में ठेका मजदूर का काम करने गए थे और होने पर बिलासपुर में ही फंस गए। जहां उन्होने बिना साधन के ही पैदल जाना उचित समझे। जिसके बाद चौकी प्रभारी वेंकटनगर विरेन्द्र तिवारी एवं ग्राम पंचायत द्वारा सभी मजदूरों को शासकीय माध्यमिक विद्यालय कपरिया के परिसर में रोकवाया गया तथा सभी मजदूरों के लिए खाने की व्यवस्था कराई गई। वहीं चौकी प्रभारी ने बिलासपुर से पैदल चलकर आए 33 मजदूरों के जांच के लिए वेंकटनगर डाॅक्टर सहित प्रषासनिक अधिकारियों को दी गई है। वहीं देर शाम तक न तो उन मजदूरो की जांच के लिए डाॅक्टर पहुंचे है और न ही प्रशासनिक अधिकारी जिससे मजदूरों को रात में रूकने या उन्हे उनके गृह ग्राम पहुंचाने की व्यवस्था नही हो सकीं। फिलहार 33 मजदूरों के लिए खाने की व्यवस्था कर उनकी मदद में करने में जुटे ग्राम पंचायत, पुलिस एवं ग्रामीण मिशाल बने हुए है।

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR