Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

हत्या के आरोपीगण को आजीवन कारावास

हत्या के आरोपीगण को आजीवन कारावास

Wednesday, June 3, 2020

/ by News Anuppur

अनूपपुर। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश अविनाश शर्मा के न्यायालय में विचाराधीन विशेष प्रकरण क्रमांक 43/18 थाना करनपठार धारा 302 भादवि में आरोपी शंभू सिंह गोंड, पप्पू उर्फ शिवकुमार गोंड़, शिवराज गोंड़, नंदू उर्फ मनीष सिंह गोंड़ सभी निवासी ग्राम रनईकापा थाना करनपठार जिला अनूपपुर को हत्या के मामले में आजीवन कारावास एवं 2 हजार रूपए के जुर्माने से दंडित किया गया। राज्य की ओर से मामले में प्रारंभिक पैरवी जिला अभियोजन अधिकारी रामनरेश गिरि द्वारा एवं अंतिम पैरवी जिसमें लिखित तर्क भी शामिल है। सहायक जिला अभियोजन अधिकारी शशि धुर्वे द्वारा की गई, प्रकरण में समय-समय पर सतत सक्रिय भूमिका निभाते हुए जिला अभियोजन अधिकारी द्वारा पैरवीकर्ता अधिकारी को मार्गदर्शन प्रदान किया गया। घटना की जानकारी देते हुए मीडिया प्रभारी राकेश कुमार पांडेय ने बताया कि घटना 14 दिसम्बर 2017 की सुबह करीबन 10 बजे की है, फरियादिया उषाबाई का पति मृतक सूरज सिंह अपने मौसेरे भाई शिवचरण उर्फ दुर्गा के साथ काम की मजदूरी लेने ग्राम रनईकापा आरोपी शंभू सिंह गोंड के घर पर गया था। शाम के करीबन 4-5 बजे जब वह घर आया तो दर्द से कराह रहा था, उसने अपनी पत्नी उषाबाई को बताया कि शंभू सिंह ने उसे उसकी मेहनत के काम के पैसे नहीं दिए बल्कि अपने लड़के पप्पू उर्फ शिवकुमार, शिवराज एवं मनीष गोंड के साथ मिलकर उसके साथ मारपीट की और गला दबाने की कोशिश की, मृतक सूरज सिंह के पेट एवं गले में काफी चोटों के निशान था गले में एक लंबी चोट थी एवं पेट से खून निकल रहा था। दर्द के कारण वह घर जाकर सो गया एवं रात्रि 11 बजे उठकर खाना खाकर फिर सो गया उसकी पत्नी उषाबाई उसके बगल में सोई हुई थी जब सुबह उषाबाई की नींद खुली तो देखा कि वह मर चुका है, जिसकी रिपोर्ट थाना करनपठार में कराई गई। जहां थाना प्रभारी द्वारा मामला संज्ञान में लेकर पूर्ण विवेचना उपरांत मामला न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। न्यायालय द्वारा अभियोजन अधिकारी के तर्कों से सहमत होकर आरोपीगणों को उपरोक्त दंड से दंडित किया गया।

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR