Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

अभियोजन वार्षिक पुरस्कार 2019 की हुई घोषणा

अभियोजन वार्षिक पुरस्कार 2019 की हुई घोषणा

गुरुवार, 23 जुलाई 2020

/ by News Anuppur

राजगौरव तिवारी लगातार दूसरी बार चुने गए शहडोल संभाग के उत्कृष्ट एडीपीओ 
अनूपपुर। म.प्र. लोक अभियोजन संचालनालय द्वारा जनवरी से दिसम्बर तक के अभियोजन अधिकारियों के कार्य के मूल्यांकन के आधार पर प्रत्येक वर्ष अभियोजन वार्षिक पुरस्कार घोषित किए जाते है। इसी क्रम में वर्ष 2019 हेतु अभियोजन वार्षिक पुरस्कार घोषित किए गए, जिनमें बेस्ट जोनल एडीपीओ शहडोल संभाग हेतु राजगौरव तिवारी सहायक जिला अभियोजन अधिकारी कोतमा को चुना गया है।  उक्त संदर्भ में जानकारी देते हुए अभियोजन के मीडिया प्रभारी राकेश पांडेय ने बताया कि अभियोजन अधिकारियों के मध्यम स्वस्थ प्रतिस्पर्धा हेतु संचालनालय लोक अभियोजन म.प्र. द्वारा ई-प्रासीक्युशन एप बनाया गया है, जिसमें अभियोजन अधिकारियों द्वारा किए जाने वाले प्रत्येक कार्य को प्रतिदिन अपलोड किया जाता है। प्रत्येक माह जिला अभियोजन अधिकारी द्वारा प्रत्येक अधिकारी के किए गए कार्य के साथ उसके व्यवहार, अतिरिक्त दायित्व लेने की क्षमता, समय की पाबंदी, कार्य के ज्ञान आदि के आधार पर अपनी ओर से भी अंक दिए जाते है। अधिकारी द्वारा अंक व जिला अभियोजन अधिकारी द्वारा दिए गए नंबर जोड़कर डायरी प्रत्येक माह लाॅक की जाती है और माह जनवरी से दिसम्बर तक के कार्य मूल्यांकन के आधार पर अभियोजन वार्षिक पुरस्कार प्रत्येक वर्ष घोषित किये जाते है। इस पुरूस्कार योजना का प्रारंभ वर्ष 2018 से किया गया है और वर्ष 2019 में यह द्वितीय अभियोजन वार्षिक पुरस्कार घोषित किए गए है। ज्ञात हो कि राजगौरव तिवारी पिछले वर्ष भी इस पुरस्कार को प्राप्त कर चुके है।

म.प्र. अभियोजन के संचालक विशेष पुलिस महानिदेशक पुरूषोत्तम शर्मा ने अभियोजन वार्षिक पुरस्कार 2019 हेतु चयनित सभी अधिकारियों को बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं प्रेषित की है। इस संबंध में मीडिया प्रभारी राकेश कुमार पांडेय ने बताया कि संचालक पुरषोत्तम शर्मा के नेतृत्व में म.प्र. अभियोजन संचालनालय देश में पहला ऐसा विभाग है जहां अधिकारियों मंे स्वस्थ प्रतिस्पर्धा के लिए इस तरह का अनूठा एप बनाया गया है जिसमें पारदर्शी तरीके से अभियोजन अधिकारियों के कार्य का मूल्यांकन संभव है। इस एप के माध्यम से न केवल अभियोजन अधिकारियों में कार्य दक्षता बढ़ी है बल्कि अभियोजन के कार्यो का उचित मूल्यांकन भी संभव हुआ है।

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR