Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

फर्जी कंपनी के प्रोपाराईटर की द्वितीय जमानत याचिका खारिज

फर्जी कंपनी के प्रोपाराईटर की द्वितीय जमानत याचिका खारिज

शुक्रवार, 28 अगस्त 2020

/ by News Anuppur

लाखो रूपए का कराया था कपटपूर्वक कंपनी में निवेश
अनूपपुर। न्यायालय जिला एवं सत्र न्यायाधीश कृष्णाकांत शर्मा के न्यायालय द्वारा आरोपी नारायण सिंह तिलगाम की जमानत याचिका निरस्त कर दी गई। आरोपी के विरूद्ध थाना कोतवाली में अपराध क्रमांक 98/16 धारा 420, 464ए, 468, 471, 120 बी एवं म.प्र. निक्षेपकों के हितों का संरक्षण अधिनियम धारा 6(1) के विरूद्ध अपराध दर्ज है। प्रकरण में अभियोजन की ओर से जमानत याचिका का विरोध जिला अभियोजन अधिकारी रामनरेश गिरि द्वारा किया गया।

मीडिया प्रभारी राकेश पांडेय ने बताया कि आरोपी द्वारा फर्जी कंपनी सांईराम रियलटेक लिमिटेड की ब्रांच अनूपपुर में खोलकर खुद को कंपनी का प्रोपाईटर एवं मुख्य एजेंट बताकर अनूपपुर जिले के ग्रामीण एवं शहरी लोगों को दोगुने एवं तिनगुने ब्याज देने का लालच देकर कई लाख रूपयों का निवेश अपनी कंपनी में कराया तथा बाद में कंपनी बंद करके भाग गया था। जिसके बाद आरोपी द्वारा उक्त अपराध के संबंध में जमानत याचिका प्रस्तुत की गई थी कि उसको पुलिस द्वारा उक्त प्रकरण में झूठा फंसाय गया है साथ ही उसके विरूद्ध प्रकरण के किसी भी साक्षी ने कोई कथन नहीं किया है। वह स्थानीय निवासी है कहीं फरार नहीं होगा वह जमानत मिलने पर न्यायालय की सभी शर्तों का पालन करेगा।

जहां अभियोजन की ओर से गिरि द्वारा जमानत आवेदन का विरोध इस आधार पर किया गया कि आरोपी द्वारा किया गया अपराध विशेष श्रेणी का अपराध है उसके द्वारा कई लोगों को झूठा प्रलोभन देकर लाखों रूपयों का निवेश अपनी कंपनी में कराया गया है साथ ही प्रकरण के साक्षियों एवं प्रकरण के एक अन्यी आरोपी के कथनों  में आरोपी  द्वारा  खुद को कंपनी का प्रोपाराईटर बताने एवं रूपयों का कंपनी में निवेश करवाने की बात स्पाष्ट है, यदि आरोपी को जमानत का लाभ दिया जाता है तो उसके फरार होने एवं प्रकरण के साक्ष्यों एवं संबंधित हितग्राहियों को प्रभावित करने की पूर्ण संभावना है, जो न्यायहित में नहीं होगा। दोनो पक्षों को सुनने के पश्चाथत न्यायालय द्वारा आरोपी की  द्वितीय जमानत याचिका निरस्त कर दी गई।
'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR