Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

रामनगर थाने के दो आरक्षको की थाना प्रभारी के सामने हुई जमकर पिटाई

रामनगर थाने के दो आरक्षको की थाना प्रभारी के सामने हुई जमकर पिटाई

शुक्रवार, 28 अगस्त 2020

/ by News Anuppur

थाना प्रभारी की भूमिका संदिग्ध, अवैध कार्यो की संलिप्ता पर लग चुके कई आरोप
 त्रिनेश मिश्रा, राजनगर। रामनगर थाना क्षेत्र में इन दिनों सट्टा, जुआं, शराब, कबाड़, कोयला चोरी के साथ अन्य अपराधिक गतिविधियां खुलेआम संचालित है। जहां थाना प्रभारी की संलिप्ता साफ झलकती दिखाई दे रही है, वहीं प्रभारियों की छूट के कारण दबंगों के हौसले इतने बुलंद हो गए वे अब पुलिस से ही मारपीट पर उतारू है। मामले की जानकारी के अनुसार 27 अगस्त की रात लगभग 2 बजे गश्त के दौरान भगत ङ्क्षसह चौक के पास दो आसामजिक तत्वों ने दो आरक्षको से मारपीट की, जहां सूचना पर पहुंचे थाना प्रभारी रामनगर ने आरक्षक को पिटते व गाली खाते देखते रहे, लेकिन मौके पर दो अपराधियों के खिलाफ कोई कार्यवाही न कर उन्हे वहां से चले जाने का अभयदान दिया गया। जो थाना प्रभारी रामनगर के कार्यप्रणाली को संदिग्ध माने जाने के साथ उनके उत्तरदायित्वों के प्रति लापरवाही को प्रदर्शित करता है।

यह है मामला

जानकारी के अनुसार रामनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत 27 अगस्त की रात पुलिस गश्त के दौरान कॉलरी के खाली पड़े आवासों में जुआं फड़ के संचालन होने की सूचना मिली, जहां भगवत सिंह चौक पर पॉइंट ड्यूटी पर लगे आरक्षक कपिल देव चक्रवर्ती पर अचानक बिना किसी कारण रविशंकर सिंह व प्रकाश सिंह नामक दो व्यक्तियों ने भगत सिंह चौक पर आरक्षक से मारपीट करने लगे। जिसकी सूचना आरक्षक ने थाना प्रभारी को दी, जहां सूचना मिलने पर मौके पर एक प्रधान आरक्षक व दो आरक्षकों के साथ पहुंचे थाना प्रभारी दोनो आरक्षक से की गई मारपीट को देखते रहे। वहीं नगर में चर्चा का विषय बना रहा कि कॉलरी के खाली पड़े क्वाटरो सहित जंगल के आसपास जुआं का फड़ संचालन किए जाने व भगवत सिंह चौक के पास ड्यूटी कर रहे दो आरक्षको पर कार्यवाही करने की शंका को लेकर मारपीट की गई है।

आरक्षक ने मारपीट की दी लिखित शिकायत

आरक्षक कपिलदेव चक्रवर्ती ने थाना रामनगर में लिखित शिकायत कर भगत चौक राजनगर में रात्रि गस्त डियूटी के दौरान रविशंकर सिहं व प्रकाश सिहं द्वारा मां बहन जबरन गाली देने, शासकीय कार्य में वाधा डालने तथा हाथ मुक्का से मारपीट कर जान से मारने की धमकी देने के खिलाफ कार्यवाही की मांग की गई। शिकायत के माध्यम से आरक्षक ने बताया कि 28 अगस्त की रात मेरी डियूटी आरक्षक नारेन्द मसराम के साथ रात्रि 12 बजे से भगत चौक राजनगर में लगाई गई थी, जहां हम दोनो डियूटी कर रहे थे रात्रि लगभग 1 बजे प्रकाश सिहं तथा रविशंकर सिंह चौहान दोनेा व्यक्ति अलग-अलग मोटर साईकिल से आए और प्रकाश सिंह अचानक अपशब्दो का प्रयोग करने लगा। मेरे मना करने पर प्रकाश सिंह मुझसे अचानक लपट गया व रविशंकर सिंह हाथ से मारपीट करने लगे तब मेरा साथ ड्यूटी पर तैनात नारेन्द्र मसराम ने बीच बचाव करने लगा, तो दोनो ने नारेन्द्र मसराम से भी मारपीट करने लगे। इस बीच विजय जयसवाल ने आकर बीच बचाव किया।

शिकायत पर दो के खिलाफ मामला पंजीबद्ध

अपराधिक प्रवृत्ति में शामिल दो दबंगो द्वारा रात के समय प्वाइंट ड्यूटी पर तैनात आरक्षक के साथ थाना प्रभारी बी.एन. प्रजापति की मौजूदगी में की गई मारपीट पर बिना किसी बचाव के ही आरक्षक कपिल देव चक्रवर्ती पिता प्रयागदास की लिखित शिकायत पर थाना प्रभारी ने आरोपी रविशंकर सिंह एवं प्रकाश सिंह दोनो निवासी राजनगर के विरूद्ध धारा 353, 332, 294, 506, 34 एवं 3 (1), 3 (2)(व्हीए) एससीएसटी एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध कर मामले को विवेचना में लिया गया। लेकिन इस पूरे मामले में ही लोगो ने थाना प्रभारी बी.एन. प्रजापति के दबंगो के साथ मिले होने की जनचर्चा बाजार में चर्चा का विषय बना हुआ है। जहां थाना प्रभारी रामनगर द्वारा मौके पर ही दोनो दबंगो को गिरफ्तार करने की बजाय उन्हे संरक्षण दिए जाने का प्रयास किया गया तथा रात में लोगो के बीच चलने लगी कानाफूसी के बाद मजबूरी में आकर मामला दर्ज किए जाने की बात आग की तरह फैल गई है। वहीं मामला पंजीबद्ध होने के बाद से ही रवि व प्रकाश नामक व्यक्ति फरार हो गए है।
'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR