Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

JEE और NEET की परीक्षा के विरोध में NSUI का सत्याग्रह

जेईई और एनईईटी की परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई का सत्याग्रह

शनिवार, 29 अगस्त 2020

/ by News Anuppur

तुलसी महाविद्यालय में एक दिन की भूख हड़ताल पर बैठे छात्र
अनूपपुर। भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई ) अनूपपुर के जिलाध्यक्ष संजय सोनी के नेतृत्व में कोविड-19 की वैश्विक महामारी के चलते JEE व NEET की परीक्षा को स्थगित करने सहित 6 माह की फीस माफी की मांग को लेकर शासकीय तुलसी महाविद्यालय अनूपपुर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने शांतिपूर्ण तरीके से बैठकर 1 दिन की भूख हड़ताल कर छात्र सत्याग्रह आंदोलन किया गया। एनएसयूआई जिलाध्यक्ष संजय सोनी ने बताया कि आज पूरा देश, प्रदेश सहित गांव-गांव में कोरोना महामारी तीव्रता के साथ फैल रही है, इस महामारी के दौरान छात्रों की परीक्षा कराए जाने का निर्णय गलत और दुर्भाग्यपूर्ण है, यदि परीक्षा के दौरान छात्र इस महामारी से संक्रमित हो जाता है तो उसकी जिम्मेदारी किसकी होगी। आज पूरे देश में यातायात व्यवस्था बस, ट्रेन पूरी तरह से बंद है, छात्र अपने घर पर फंसे हुए हैं और बड़े-बड़े शहरों में परीक्षा का सेंटर बनाया गया है, यदि परीक्षा होगी तो छात्र अपने गांव से परीक्षा सेंटरो तक कैसे पहुंचेगा यह उनके लिए जटिल समस्या है, छात्रों की जिंदगी सरकार खतरे में डालकर छात्रों की परीक्षा लेना चाह रही है। भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन पूरे देश में आज छात्रों की आवाज बनकर सत्याग्रह आंदोलन कर रहा है, राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन पिछले 3 दिनों से दिल्ली में भूख हड़ताल पर बैठे हैं, जिसके कारण उनका स्वास्थ्य भी खराब हो गया है, इसके बाद भी वह आंदोलन में डटे हुए हैं और मांग करते हैं कि परीक्षाएं स्थगित हो, छात्रों की जान जोखिम में ना डालें और परीक्षा कराए जाने के निर्णय का पुरजोर विरोध करते हैं। छात्र सत्याग्रह आंदोलन में एनएसयूआई जिलाध्यक्ष संजय सोनी, ऋषि बंशकार, जितेंद्र सिंह, विक्रम महोबिया, युवराज राठौर, शैलेंद्र पटेल, लवकुश पटेल, जितेंद्र चतुर्वेदी, प्रदीप गुप्ता, राजू चौधरी, आदित्य राठौर, रविकांत प्रजापति, कृष्णा राठौर, सचिन राठौर, भगवान दास पटेल, ऋषि सोनी, लकी सोनी, आशीष राजपूत सहित अन्य छात्र शामिल रहे। 
'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR