Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

नाबालिग बालिका के साथ दुष्कार्म के आरोपी को 21 साल की जेल

नाबालिग बालिका के साथ दुष्कार्म के आरोपी को 21 साल की जेल

मंगलवार, 8 सितंबर 2020

/ by News Anuppur

प्रकरण के त्वंरित निराकरण हेतु उच्च न्यायालय द्वारा जारी किए गए थे विशेष आदेश
कोरोना काल में पॉक्सो अधिनियम में जिले की पहली सजा
अनूपपुर। न्यायालय विशेष न्यायाधीश भूपेन्द्र नकवाल के न्यायालय द्वारा थाना कोतवाली अनूपपुर के विशेष प्रकरण में आरोपी सोनू ऊर्फ  राजेन्द्र चौधरी पिता हीरालाल चौधरी उम्र 24 वर्ष ग्राम मनमारी के विरूद्व  नाबालिग के साथ दुष्कर्म के अपराध को प्रमाणित पाते हुए  21 वर्ष के सश्रम कारावास के दंडारदेश को पारित किया गया है। न्यायालय ने आरोपी पर यह टिप्पणी करते हुए की किसी भी सभ्य समाज में नारियो वह भी नाबालिक के प्रति वस्तु के रूप मे व्यहार बर्दास्त नही किया जा सकता और कठोर दंड 21 वर्ष के कारावास से दंडित किया गया। पीडि़ता को आरोपी द्वारा दिए जाने वाले अर्थदंड की संपूर्ण राशि 6 हजार देने का आदेश भी जारी किए, परन्तु प्रतिकर की यह राशि कम होने के कारण पीडि़ता को प्रतिकर योजना के तहत भी राशि दिलाए जाने की शिफारिश की गई है।

मामले की जानकारी देते हुए अभियोजन मीडिया प्रभारी अनूपपुर राकेश कुमार पांडेय ने बताया कि आरोपी पर कोतवाली अनुपपुर में 17 वर्ष की पीडिता द्वारा उपस्थित होकर रिपोर्ट दर्ज करवाई थी की सोनू उर्फ राजेन्द्र चौधरी उसे बहला-फुसलाकर शादी का झांसा देकर अपने घर ले गया और उसके साथ 8 से 9 माह तक लगातार दुष्कर्म किया, पीडिता की रिपोर्ट पर थाना कोतवाली में प्रकरण पंजीबद्व किया गया, जिसकी विवेचना उप निरीक्षक विशाखा उर्वेदी द्वारा की गई, जिन्होने प्रकरण में मौखिक दस्ताावेज  साक्ष्य के अतिरिक्त  वैज्ञानिक साक्ष्यों कों भी संकलित किया, प्रकरण में पीडिता के शरीर से प्राप्तक साक्ष्यों की डीएनए जॉच कराई गई। डीएनए जॉच में आरोपी द्वारा ही कृत्यक किए जाने की पुष्टि हुई। प्रकरण में न्यायालय में अभियोजन की ओर से पैरवी विशेष लोक अभियोजक हेमंत अग्रवाल द्वारा की गई, जिन्होंने संपूर्ण प्रकरण को अभियोजन की ओर से न्यायालय के सामने प्रस्तुत किया और सभी आवश्यक साक्षियों के कथन कराए। श्री अग्रवाल द्वारा प्रस्तु्त साक्ष्यों और तर्को से सहमत होते हुए न्याायालय द्वारा समाज में बच्चियों के साथ इस प्रकार के बढते अपराधों को ध्यान में रखते हुए एवं अपराध की गंभीरता को देखते हुए आरोपी को 21 वर्ष के सश्रम कारावास के दंड से दंडित किया है।
'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR