Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

पंच कन्याओं का पूजन कर मुख्यमंत्री ने किया 302.17 करोड़ के विकास कार्यों का शुभारंभ

पंच कन्याओं का पूजन कर मुख्यमंत्री ने किया 302.17 करोड़ के विकास कार्यों का शुभारंभ

सोमवार, 7 सितंबर 2020

/ by News Anuppur




जनता की सेवा और विकास के लिए मेरे पास पैसा ही पैसा - मुख्यमंत्री शिवराज सिंह
बिसाहूलाल ने अनूपपुर बॉयपास, 660 मेगावॉट चचाई पावर प्लांट, कन्य महाविद्यालय की रखी मांग
पुष्पराजगढ़ विधायक के मात्र 305 करोड़ की मांग पर कमलनाथ ने पकड़ाया था ठन-ठन गोपाल
अनूपपुर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार 7 सितम्बर की दोपहर 4 बजकर 10 मिनट में कार्यक्रम स्थाल शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय के प्रांगण में पहुंचे, जहां उन्होने सर्व प्रथम पांच कन्याओं का पूजन के पश्चात विधानसभा अनूपपुर में 302.17 करोड़ के विकास कार्यों जिनमें अनूपपुर में 17 करोड़ 29 लाख रूपए की लागत से 200 बिस्तरों का जिला चिकित्सालय, 33 करोड़ 10 लाख की लागत से जैतहरी-महुदा-परासी-जमुना मार्ग का निर्माण, अनूपपुर शहर में 12.01 करोड़ की लागत से रेल्वे ओवर ब्रिज के कार्य का शुभारंभ, 1.09 करोड़ की लागत से एकलव्य विद्यालय में आधुनिक सुविधायुक्त ऑडिटोरीयम निर्माण कार्य का शुभारंभ, 15 ग्रामों में 16.79 करोड़ की लागत से बनने वाली आवर्धन नल जल योजना की सौगात, सिंचाई सुविधा में विस्तार हेतु धनपुरी एवं चोलना में 20 करोड़ 59 लाख लागत की सिंचाई परियोजना,  जैतहरी वेंकटनगर लंबाई 40.60 किमी लागत 68.04 करोड़, कोतमा जैतहरी राजेंद्रग्राम मार्ग लम्बाई 52.20 किमी लागत 115.25 करोड़, बाल सम्प्रेषण गृह अनूपपुर लागत 0.91 करोड़ तथा 54 लाख लागत से ग्राम कोलमी एवं बकेली में निर्मित गौशालाओं कुल 184.74 करोड़ रुपए लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण किया गया।

15 माह तक म.प्र. भ्रष्टाचार का आखाड़ा  व वल्लभ भवन भ्रष्टाचार का बना अड्डा- मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि मेरी सरकार में जनता को राशन देने वाले मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने 37 लाख पात्रता सूची में नए नाम जोड़े है, जिन पर मुझे गर्व है। उनहोने कहा कि इसके पहले जब मै मुख्यमंत्री रहा तो 4 से 5 माह में एक बार अनूपपुर की जनता से मिलने आ ही जाता था और इस बार जब मुख्यमंत्री बना सोचकर रखा था कि अनूपपुर जाउंगा, लेकिन कोरोना के कारण अनूपपुर आने लेट हो गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 वर्षो बाद जब कांग्रेस सरकार बनी तो मैने सोचा की ये सरकार पूरे पांच साल चलेगी और कांग्रेस सरकार प्रदेश में विकास करेगी प्रदेश की जनता से किए गए वादों को पूरा करेगीं। लेकिन कमलनाथ सरकार ने अपने ही वरिष्ठ नेताओं का अपमान करना शुरू कर दिया, दिग्विजय सिंह ने पहली बार में ही अपने बेटे को मंत्री बना दिया गया, कमलनाथ ने अपेन मंत्री मंडल एैसे लोगो को शामिल किया, जिन्हे जनता की सेवा नही करना चाहते थे। म.प्र. भ्रष्टाचार का आखाड़ा बन गया, वल्लभ भवन भ्रष्टाचार का अड्डा बन गया। लेकिन बिसाहूलाल जैसे नेता ने कमलनाथ का बैण्ड बजा दिया। हमारी सभी योजनाओं को बंद कर दिया गया। मुख्यमंत्री बनने के बाद कमलनाथ बंगले के अंदर ही बैठकर जनता की सेवा करते थे, जब मैने बाहर निकलकर जनता की सेवा करने की बात कही तो उन्होने कहा कि मै बंगले में बैठकर की जनता की सेवा करूंगा तब मैने कहा कि तेरी प्यारी-प्यारी सूरत को नजर न लगे। 

अमरकंटक महोत्सव को लेकर पुष्पराजगढ़ विधायक पर बिसाहूलाल ने कसा तंज

खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल ने कहा कि मुझे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने 37 लाख पात्रता पर्ची वितरण का लक्ष्य दिया था, जिसे मैने प्रदेश के सभी कलेक्टरों सहित खाद्य विभाग के अधिकारियो से लगातार बैठक कर इस लक्ष्य को पूरा किया, जिसे 16 सितम्बर को मुख्यमंत्री द्वारा वितरित किया जाएगा। जिसमें अनूपपुर जिले के 25 हजार लोग शामिल है जो भूखे नही रहेगें। उन्होने कहा की मुख्यमंत्री ने मेरे आग्रह पर अनूपपुर विधानसभा के लिए 302.17 करोड़ रूपए दे दिए। इस बीच बिसाहूलाल ने पुष्पराजगढ़ विधायक पर तंज कसते हुए कहा कि 15 माह की कांग्रेस सरकार में जब पुष्पराजगढ़ विधायक ने अमरकंटक महोत्सव का कार्यक्रम करवाया, जिसमें पूरे जिले के क्रेशरो एवं व्यापारियों से जबरन चंदा वसूूली कर 6 करोड़ एकत्रित किया गया, जहां उनका काम मुझे नीचा दिखाना था। नर्मदा महोत्सव कार्यक्रम में पुष्पराजगढ़ विधायक ने अपने पुष्पराजगढ़ विधानसभा के लिए कमलनाथ से 350 करोड़ की मांग की गई, जहां कमलनाथ ने मुझे अपने बगल में बुलाकर मुझसे कहा कि 350 करोड़ रूपए मांग रहा है, इसको मै ठन-ठन गोपाल न दे दूॅ। 

बिसाहूलाल ने बॉयपास, थार्मल पावर प्लांट सहित अन्य की रखी मांग

खाद्य एवं उपभोक्ता सरंक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने अनूपपुर में बॉयपास बनावाए जाने, अमरकंटक ताप विद्युत गृह चचाई में 660 मेगावॉट की राशि प्रदान करने, कन्य महाविद्यालय, हर्री-बर्री मार्ग में बने पुल के टूट जाने पर नवीन पुल का निर्माण करावाए जाने के साथ ही पॉलेटेक्निक कॉलेज में कई विषयों को जोडऩे की मांग रखी, इसके साथ ही उन्होने कहा कि उन्होंने कहा कि 2023 तक प्रदेष के हर घर तक पानी पहुंचाने की कार्य योजना पर भी कार्य किया जा रहा है। अनूपपुर जिले में लगभग 25 गांव में नल-जल योजनाओं का निर्माण किया जा रहा है। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, मंत्री आदिम जाति कल्याण एवं जनजातीय कार्य विभाग मीना सिंह, सांसद शहडोल संसदीय क्षेत्र हिमाद्रि सिंह, पूर्व मंत्री एवं विधायक रीवा राजेंद्र शुक्ल, जिला पंचायत अध्यक्ष रूपमती सिंह, पूर्व विधायक कोतमा दिलीप जायसवाल, पूर्व विधायक पुष्पराजगढ़ सुदामा सिंह, विंध्य विकास प्राधिकरण के पूर्व उपाध्यक्ष रामदास पुरी, म.प्र. अनुसूचित जनजाति आयोग के पूर्व अध्यक्ष नरेन्द्र मरावी एवं भाजपा जिलाध्यक्ष बृजेश गौतम उपस्थित रहे। 

मेधावी छात्राओं को किया गया सम्मानित 

जिसके पश्चात मुख्यमंत्री ने हायर सेकेंडरी परीक्षा में राज्य में आठवां स्थान एवं जिले में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाली मेधावी छात्रा पलक गौतम एवं हाई स्कूल परीक्षा में जिले में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाली छात्रा मंदाकिनी पटेल को सम्मानित करते हुए दोनो छात्राओं को महिला बाल विकास विभाग द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजनांतर्गत 5 हजार रूपए एवं जिले के 40 मेधावी छात्राओं को कुल 2 लाख की राशि महिला एवं बाल विकास विभाग के योजना से प्रदान की गई है। 

नन्ही प्रेक्षा के भविष्य को संरक्षित करने दिए 1 लाख 18 हजार राशि का ई-प्रमाण पत्र

मुख्यमंत्री ने बालिका प्रेक्षा मार्को को लाडली लक्ष्मी योजनांतर्गत 1 लाख 18 हज़ार राशि का ई-प्रमाण पत्र प्रदान कर उज्ज्वल भविष्य हेतु शुभाशीष दिया। उल्लेखनीय है कि जिले में अब तक 38381 बालिकाओं को लाडली लक्ष्मी योजनांतर्गत लाभान्वित किया जा चुका है। वर्तमान वित्तीय वर्ष में अब तक 947 बालिकाओं को ई-प्रमाण पत्र जारी किया गया है।

शहरी एवं ग्रामीण पथ व्यवसायी को प्रदान किया ब्याज मुक्त कार्यशील पूंजी ऋण 

जिले में अब तक शहरी एवं ग्रामीण पथ व्यवसायी उत्थान योजना के माध्यम से 497 हितग्राहियों को लाभान्वित हुए हैं। मुख्यमंत्री ने ग्रामीण पथ व्यवसायी बदरा की अमरवती रौतिया, पकरिया के सुख सागर पाल एवं शहरी पथ व्यवसायी नपा अनूपपुर के गणेश प्रसाद वर्मा, नपा जैतहरी के नरेश नापित को 10 हजार रूपए की ब्याज मुक्त कार्यशील पूंजी ऋण प्रदान किया। उल्लेखनीय है कि जिले में शहरी पथ व्यवसायी उत्थान योजनांतर्गत प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना लाभ सहित अब तक 401 पथ व्यवसायी तथा ग्रामीण पथ व्यवसायी उत्थान योजना अंतर्गत अब तक 96 हितग्राही ब्याज मुक्त कार्यशील पूंजी ऋण प्राप्त कर लाभान्वित हुए हैं।

मुख्यमंत्री ने प्रदान किया वनाधिकार पट्टा

मुख्यमंत्री द्वारा ग्राम बदरा की लीलाबाई एवं सुशीला बैगा को कार्यक्रम के दौरान वनाधिकार पट्टे का वितरण किया गया। उल्लेखनीय है कि जिले में अब तक 772 पात्रों के वनाधिकार दावे जिला स्तर से स्वीकृत किए जा चुके हैं। इसके साथ ही जिले में 5671 बैगा महिलाओं को सुपोषण हेतु प्रति हितग्राही 1 हजार रूपए प्रतिमाह के मान से बैगा महिला आहार अनुदान योजनांतर्गत हितलाभ मिल रहा है। मुख्यमंत्री द्वारा डोंगराटोला की नगमतिया बाई बैगा को आहार अनुदान योजना अंतर्गत हितलाभ वितरित किया गया।

कस्टम हायरिंग योजनांतर्गत प्रदान की 9 लाख 20 हजार की अनुदान राशि

मुख्यमंत्री ने विकासखंड जैतहरी के ग्राम पोड़ी के प्रगतिशील कृषक विजय कुमार जायसवाल को कस्टम हायरिंग योजना अंतर्गत कृषि उपकरणों के क्रय हेतु 9 लाख 20 हजार का अनुदान प्रदान किया। उल्लेखनीय है कि कृषि को लाभ का व्यवसाय बनाने, उन्नत कृषि को बढ़ावा देने एवं कृषको को उन्नत कृषि यंत्र उपलब्ध कराकर क्षेत्र की उत्पादकता में वृद्धि के उद्देश्य से कृषि विभाग द्वारा सतत रूप से कृषको को विभिन्न योजनाओ अंतर्गत लाभान्वित एवं मार्गदर्शन प्रदान किया जा रहा है। प्रगतिशील कृषक विजय जायसवाल द्वारा कस्टम हायरिंग योजना अंतर्गत प्रदत्त सहयोग से ट्रैक्टर 40 एवं 60 एचपीए रोटावेटर, सीड कम फर्र्टीलाईजऱ, ड्रिल, ज़ीरो टिलेज मशीन, पैडी ट्रांसप्लांटर, लेवलर, बंड फार्मर, एमबी प्लो, कल्टिवेटर जैसे अत्याधुनिक कृषि यंत्रो का क्रय किया गया है।

पशुपालक एवं मत्स्यपालक को प्रदान किया केसीसी स्वीकृति पत्रक

मुख्यमंत्री ने पशुपालक ग्राम सेंदुरी के लखनलाल राठोर को 1 लाख 50 हजार राशि एवं डोला के प्रेमनगर मछुआ समिति की अध्यक्ष मत्स्य पालक सुनीता सिंह को 1 लाख राशि का केसीसी स्वीकृति पत्र प्रदान किया। उल्लेखनीय है कि शासन द्वारा अब पशुपालको एवं मत्स्यपालकों को आजीविका ग़तविधियों में विकास हेतु केसीसी के माध्यम से आर्थिक सहयोग प्रदान किया जा रहा है। योजनांतर्गत पशुपालकों को दुधारू पशुओं के रखरखाव हेतु 15 हजार रूपए प्रति गौवंश तथा 18 हजार रूपए प्रति भैंसवंश के मान से क्रेडिट लिमिट प्रदान की जाएगी। जिस पर ब्याज पर 2 प्रतिशत छूट एवं समय पर भुगतान पर 3 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट का प्रावधान है। जिले में अब तक 1069 पशुपालकों के प्रकरण योजनांतर्गत लाभ हेतु प्रेषित किए जा चुके हैं तथा 223 प्रकरण अब तक स्वीकृति हो चुके हैं।

जय बजरंग दैखल एवं नर्मदा स्वसहायता समूह अमलिहा को 1 लाख का सीसीएल स्वीकृति 

मुख्यमंत्री द्वारा जय बजरंग स्वसहायता समूह दैखल एवं नर्मदा स्वसहायता समूह अमलिहा को मुख्यमंत्री ने 1 लाख राशि का सीसीएल स्वीकृति पत्रक प्रदान किया। उल्लेखनीय है कि आजीविका में सुधार हेतु ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा सतत रूप से प्रयास किए जा रहे हैं। स्थानीय परिस्थितियों एवं नागरिकों की सहजता अनुसार विभिन्न उद्यमों एवं गतिविधियों हेतु सहयोग एवं मार्गदर्शन प्रदान कर आजीविका के स्तर एवं प्रगति की संभावनाओं में वृद्धि की गई। वर्तमान वित्तीय वर्ष में अब तक 102 नवीन स्वसहायता समूहों का गठन किया जा चुका है तथा 151 बचत खाते खोले जा चुके हैं। 510 समूहों को बैंक क्रेडिट लिंकेज के माध्यम से 7 करोड़ 98 लाखए 80 समूहों को 20.10 लाख रूपए सामुदायिक निवेश निधि एवं 295 समूहों को 32.28 लाख रुपए चक्रीय राशि उपलब्ध कराई गई।

पति के सामान्य मृत्यु पर पत्नी विमला को 2 लाख की अनुग्रह राशि स्वीकृति 

मुख्यमंत्री सामान्य मृत्यु की वजह से अपने पति स्वर्गीय देवकरण सिंह को खोने वाली विमला सिंह को 2 लाख की अनुग्रह राशि का स्वीकृति आदेश प्रदान किया। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजनांतर्गत जिले के 2 लाख 31 हजार 636 व्यक्ति पंजीकृत हैं। योजनांतर्गत 836 हितग्राहियों व परिवार जनो को अंत्येष्टि सहायता अंतर्गत 41 लाख 80 हजार की राशि, 708 हितग्राहियों व परिवारजनो को सामान्य मृत्यु पर 14 करोड़ 16 लाख की राशि, योजनांतर्गत 72 हितग्राहियों व परिवार जनो को दुर्घटना मृत्यु पर 2 करोड़ 88 लाख की राशि का प्रदाय किया जा चुका है।

अनूपपुर के 98 हजार 532 विद्युत उपभोक्ता होंगे लाभान्वित 

प्रदेश में कोविड-19 कोरोना वायरस महामारी के कारण प्रदेश के निम्न आय वर्ग वाले उपभोक्ताओं को विद्युत देयकों के भुगतान में आ रही कठिनाई के दृष्टिगत मुख्यमंत्री के नेतृत्व में मध्य प्रदेश सरकार ने एक किलो वाट तक के घरेलू उपभोक्ताओं के देयकों की 31 अगस्त 2020 तक की बकाया राशि स्थगित करने तथा एक किलो वाट तक के संयोजित भार वाले उपभोक्ताओं की आगामी सितंबर एवं अक्टूबर 2020 में मात्र उनकी वर्तमान मासिक खपत के आधार पर विद्युत देयक जारी करने पूर्व बकाया एवं सरचार्ज राशि का समावेश नहीं किए जाने के निर्देश दिए हैं। उक्त योजना से जिले में 98 हजार 532 विद्युत उपभोक्ता लाभान्वित होंगे। जिसमें 17 करोड़ 21 लाख 80 हजार 487 रूपए का हितलाभ प्राप्त होगा। प्रतीक रूप से दो हितग्राहियों को मंच से आंकलित खपत के न्यूनतम देयक चचाई रोड अनूपपुर निवासी अमृतलाल चौधरी एवं अमरकंटक रोड अनूपपुर निवासी आरती सिंह को मुख्यमंत्री द्वारा प्रदान किए जाएगें

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR