Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

वन्य प्राणी का शिकार करने वाले आरोपियों की जमानत निरस्त

वन्य प्राणी का शिकार करने वाले आरोपियों की जमानत निरस्त

गुरुवार, 10 सितंबर 2020

/ by News Anuppur

अनूपपुर। न्यायालय न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी के.पी. सिंह के न्यायालय से आरोपी अमर सिंह पिता हीरा सिंह उम्र 39, प्रकाश सिंह पिता सुखलाल उम्र 20 वर्ष, शिवरतन सिंह पिता गेंदलाल उम्र 19 वर्ष तीनों निवासी धुम्मा थाना भालूमाडा की जमानत याचिका निरस्त कर दी गई है। मीडिया प्रभारी राकेश पांडेय ने बताया की मामला वनपरिक्षेत्र कोतमा के पीओआर क्रमांक 4748/08 दिनांक 8 सितम्बर से संबंधित है, जिसमें आरोपीगणों द्वारा वन्य प्राणी जंगली सुअर जो कि अनुसूची 3 का प्राणी है को पीट-पीट कर मार डाला था और उसके मॉस को आपस में बाट लिया था। जहां वन्य विभाग को सूचना मिलने पर वन विभाग द्वारा आरोपीगणों के कब्जें से जंगली सुअर का कच्चा मांस, बाल, जबडा तथा चार पैर तथा मारने में प्रयुक्त फर्सा, टागी, लकडी का बेत और गडासा आदि की जब्ती कर गिरफ्तार कर उक्त आरोपीगणों को न्यायालय में प्रस्तुत किया था।

आरोपी द्वारा जमानत आवेदन में झूठा फंसाए जाने तथा अपने घर का एक मात्र कर्ता धर्ता होने पर जमानत की शर्तो का पालन करने की बात जमानत का लाभ दिए जाने की मांग की गई। जहां अभियोजन अधिकारी राजगौरव तिवारी द्वारा जमानत आवेदन का विरोध किया कि आरोपीगण द्वारा प्रकृति के पारिस्थितिकी तंत्र, इको सिस्टम को बनाए रखने वाले वन्य प्राणियों को मारकर गंभीर अपराध किया है वर्तमान में वन्य प्राणियों पर अपराध बहुत अधिक बढ़ गया है, जिससे पारिस्थितिकी तंत्र प्रभावित हो रहा है। जमानत दिए जाने पर समाज में बुरा संदेश जाएगा। जमानत का लाभ दिए जाने पर व साक्ष्य प्रभावित कर सकता है व फरार हो सकता है। उभयपक्षों के तर्को को सुनने के पश्चात न्यायालय द्वारा अभियोजन के तर्को से सहमत होते हुए आरोपी की जमानत याचिका अंतर्गत धारा 437 निरस्त कर दिया गया।
'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR