Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

शिक्षक दिवस पर अतिथि शिक्षक उतरे सडको पर, रैली निकाल सौंपा ज्ञापन

शिक्षक दिवस पर अतिथि शिक्षक उतरे सडको पर, रैली निकाल सौंपा ज्ञापन

शनिवार, 5 सितंबर 2020

/ by News Anuppur


अपनी मांगो को लेकर कोतवाली पहुंच दी गिरफ्तारी
अनूपपुर। जिला मुख्यालय में शनिवार को जिलेभर से पहुंचे अतिथि शिक्षकों ने सरकार पर सीधा निशाना साधते हुए शोषण के आरोप लगाए, इंदिरा तिराहा से रैली निकाल कर कलेक्ट्रेट कार्यालय में मुख्यमंत्री के नाम डिप्टी कलेक्टर अमन मिश्रा को ज्ञापन सौपा गया। जहां ज्ञापन के माध्यम से अतिथि शिक्षकों ने उपचुनाव के पहले नियमितीकरण और लॉकडाउन अवधि का मानदेय की मांग रखी। 15 वर्षो से भाजपा सरकार द्वारा उन्हे मजदूरो से भी कम मानदेय देकर कार्य कराया, पिछले चुनाव में भी अतिथि शिक्षकों को नकार दिया गया था, जिसके कारण भाजपा की सरकार गिर गई थी, अगर उपचुनाव में भी प्रदेश सरकार के द्वारा उपेक्षित किया गया तो अतिथि शिक्षक सरकार के खिलाफ  प्रदर्शन भी करेगी।

मांगो को लेकर नारे को किया बुलंद

जिलेभर से मुख्यालय में पहुंचे अतिथि शिक्षकों ने नारे के माध्यम से सरकार को चेतना कि हम तो सडक पर आए है, तुम्हें भी सडक पर लाएगें जैसे नारो के माध्यम से अपनी आवाज को बुलंद किया। गौरतलब हो कि सैकडों की संख्या में रैली में पहुंचे अतिथि शिक्षकों ने मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कलेक्टर कार्यालय पहुंच कर ज्ञापन के माध्यम से मुख्यमंत्री तक संदेश पहुंचाया है, उन्होने कहा कि अगर इस बार भी अतिथियों की उपेक्षा की गई तो नारे को कहीकत में बदलने की ताकत रखते है।

गिरफ्तारी देने कोतवाली पहुंचे अतिथि शिक्षक

कोतवाली पुलिस ने कई अतिथि शिक्षकों को हिरासत में भी लिया, जहां घंटो चली लिखा-पढी के बाद उन्हे छोडा गया। इतना ही नही अतिथि शिक्षकों ने कहा कि 6 माह से एक रूपए न तो सरकार द्वारा सहायता दी गई और न ही लॉकडाउन में किसी भी प्रकार की सुविधाए दी गई, जिनके कारण उनका पूरा परिवार भूखे मरने की कगार पर आ चुका है। ज्ञापन के माध्यम से अतिथि शिक्षकों ने कोरोनाकाल का मानदेय व अतिरिक्त सहायता की भी मांग की है। जिलेभर से मुख्यालय की रैली में पहुंचे अतिथि शिक्षकों ने एक स्वर में उपचुनाव से पहले नियमितीकरण की मांग की है।

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR