Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

कोटवारों को नियमित नही करने पर कोटवार संघ ने मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन

कोटवारों को नियमित नही करने पर कोटवार संघ ने सौंपा ज्ञापन

Friday, April 16, 2021

/ by News Anuppur

मांग पूरी नही होने पर कोरोना काल समाप्त के बाद एक साथ CM को सौपेंगे इस्तीफा

अनूपपुर। शासन द्वारा कोटवारों को नियमित नही किए जाने की मांग को लेकर 16 अप्रैल को संयुक्त कलेक्ट्रेट पहुंच मुख्यमंत्री के नाम अपर कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा गया है। जहां ज्ञापन के माध्यम से जिलाध्यक्ष भगवान दास केवट ने बताया कि म.प्र. राज्य पत्र क्रमांक 45 भोपाल शुक्रवार 6 नवम्बर को गजट नोटिफिकेशन द्वारा म.प्र. शासन द्वारा कोटवारों को शासकीय कर्मचारी घोषित किया गया है। किन्तु म.प्र. शासन के द्वारा भूमि हीन कोटवारों को नाम मात्र 4 हजार रूपए प्रतिमाह वेतन दिया जाता है जां संविधान के खिलाफ है एवं कोटवारों के साथ म.प्र. शासन द्वारा अनदेखी किया जा रहा है एवं कोटवारेां को छोटे से बड़े शासकीय कर्मचारी तक बंधुआ मजदूर बना दिया है। म.प्र. कोटवारेां के साथ 70 वर्षो से असंवैधानिक अत्याचारों का शिकार हो रहा है। 

म.प्र. कोटवार संघ ने बताया कि उनके द्वारा मुख्यमंत्री, राजस्व मंत्री, वित्त मंत्री, गृहमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री तथा खाद्य मंत्री सहित विधायक व प्रमुख सचिव राजस्व विभाग को ज्ञापन द्वारा मांग पूरी करने वर्षो से ज्ञापन सौंपा जा रहा है। 

उन्होने बताया कि वर्ष 2020 से लेकर वर्तमान तक कोविड जैसे महामारी ने कोटवारों को म.प्र. के सभी सीमाओं से बाहर से आने वाले मजदूरों की देखरेख पर 24 घंटे खडे रहकर एक पुलिस के साथ प्रशासनिक व्यवस्था के तहत ड्यूटी लगाई जाती है जो भूखे प्यासे रहकर सेवा दे रहे है। जहां पुलिस विभाग का दुख गृहमंत्री ने प्रमोशन देकर कुछ कम करने का प्रयास किया है लेकिन म.प्र. शासन के राजस्व विभाग को अंतिम छोर पर कार्य करने वाला सेवक को राजस्व मंत्री द्वारा किसी प्रकार का उज्जवल भविष्य के लिए कोई आदेश नही दिया गया है। 

इसके बावजूद ऐसी विषम परिस्थितियों में कोटवार हड़ताल करके कोविड जैसी महामारी आम जन की सेवा से वंचित नही होना चाहता है इसलिए म.प्र. कोटवार वेलफेयार सोसायटी के प्रांतीय कमेटी निर्णय लिया है कि वे अपनी मांगो को पूरा कराने के लिए शासन द्वारा कोटवार विरोधी नीति के विरोध में कोरोना काल समाप्त होने तक अपनी बाह मंे काली पट्टी बांध कर निष्ठा पूर्वक अपनी ड्यूटी करेगा और कोरोना काल समाप्त होने जाने के बाद शासन द्वारा कोटवार संघ के मांगो के विचार नही करने पर म.प्र. के सभी कोटवारों द्वारा सड़क मार्ग से पद यात्रा कर भोपाल जाकर अपने पद से सशर्त इस्तीफा मुख्यमंत्री को सौंपेगे।  


No comments

Post a Comment

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR