Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

JSO ANUPPUR प्रदीप त्रिपाठी पर हुए आत्मघाती हमले की निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर म.प्र. आपूर्ति अधिकारी संघ ने सौंपा ज्ञापन

JSO ANUPPUR प्रदीप त्रिपाठी पर हुए आत्मघाती हमले की निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर म.प्र. आपूर्ति अधिकारी संघ ने सौंपा ज्ञापन

Monday, April 19, 2021

/ by News Anuppur


अनूपपुर।
कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी अनूपपुर प्रदीप त्रिपाठी पर हुए आत्मघाती हमले की निष्पक्ष जांच कर दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही की मांग को लेकर म.प्र. आपूर्ति अधिकारी संघ ने खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल को ज्ञापन सौपा गया है। जहां ज्ञापन के माध्यम से बताया कि 10 अप्रैल की शाम 7.30 बजे अनूपपुर जिले में पदस्थ कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी प्रदीप त्रिपाठी शासकीय कार्य उपरांत थाना रामनगर क्षेत्र से वापस अनूपपुर मुख्यालय लौटते समय गाम रेउन्दा के समीप हाइवे पर उनका पीछा कर एक्सीडेंट कराया गया, एक्सीडेंट पूर्व से खाद्यान्न माफियाओं द्वारा नियोजित था।

आपूर्ति अधिकारी संघ ने बताया की विकासखंड अनूपपुर अंतर्गत आदिम जाति सेवा सहकारी समिति भलमुड़ी में सेवानिवृत्त समिति प्रबंधक रामनारायण शर्मा के परिवार के लोगो का विगत कई वर्षो से दबदबा है, उन्ही के परिवार के लोग समिति की दुकानें संचालित कर राशन की कालाबाजारी में लिप्त है तथा इन्ही के परिवार के लोग ही समिति प्रबंधक रहते है।

समिति भलमुड़ी के सेवानिवृत्त समिति प्रबंधक रामनारायण शर्मा द्वारा अधिकारियों से सांठ-गांठ कर अपने ही परिवार के सदस्यों को चपरासी से लेकर विक्रेता व प्रबंधक तक नियुक्त कराया गया है। 

उक्त समिति में सेवानिवृत्त समिति प्रबंधक ने अपने कार्यकाल के दौरान सांठ-गांठ कर अपने सगे भाई रामकिशोर शर्मा, अपने पुत्र चिरंजीव शर्मा, भतीजे सागर मिश्रा व साढू विजय पांडेय व लवकेश पांडेय को समिति भलमुड़ी में नियुक्ति दिलाकर अपने भाई विष्णु शर्मा के साथ समिति की दुकानों पर आज भी अपना कब्जा जमाकर खाद्यान्न की कालाबाजारी में निरंतर लिप्त है। 

प्रदीप त्रिपाठी कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी अनूपपुर द्वारा उक्त समिति की फुलकोना दुकान में एक माह के पीएमजीकेवाई खाद्यान्न की कालाबाजारी पकडी गई थी, जिसका प्रतिवेदन अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को दिया गया था। जिसमें आज दिनांक तक एफआईआर नही हो पाई है व मामला एसडीएम कोर्ट में लंबित है। जिस कारण उनका विवाद कई दिनों से चल रहा था। इसके बाद कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी श्री त्रिपाठी ने समिति भलमुड़ी की ही दो दुकान राजनगर नंबर  2 व रेउंदा में खाद्यान्न की अफरा-तफरी व कालाबाजारी पाए जाने पर प्रकरण निर्मित कर 18 मार्च को थाना रामनगर में समिति प्रबंधक रामकिशोर शर्मा व विक्रेता सागर मिश्रा व जगतलाल केवट के विरूद्ध दो एफआईआर दर्ज कराई गई थी, किन्तु उक्त प्रकरण में पुलिस द्वारा आरोपियों पर कोई कार्यवाही नही की गई। शर्मा परिवार द्वारा बेबुनियाद शिकायते श्री त्रिपाठी की जिले से भोपाल स्तर तक के अधिकारियों को किसान संघ के नाम से की गई थी, जिसकी जांच अपर कलेक्टर सरोधन सिंह व एसडीएम कोतमा ऋषि सिंघई द्वारा की गई जिसमें सभी शिकायतें झूठी पाई गई थी। 

10 अप्रैल को जो एक्सीडेंट करवाया गया वो विक्रेता जगतलाल केवट के घर के पास ही हुआ है, 18 मार्च को श्री त्रिपाठी द्वारा एफआईआर कराई गई थी एक्सीडेंट एक सोची समझी साजिश थी। एक्सीडेंट के दौरान उपस्थित विक्रेताओं के बताए अनुसार दुर्घटना स्थल के समीप यात्री प्रतिक्षालय में 6 से 7 लोग घात लगाए बैठे थे जो कि एक्सीडेंट के बाद तत्काल भाग गए। 

म.प्र. आपूर्ति अधिकारी संघ ने बताया कि उपरोक्त तथ्यों से स्पष्ट है कि प्रदीप त्रिपाठी कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी अनूपपुर पर रामनारायण शर्मा परिवार द्वारा सुनियोजित तरीके से आत्मघाती हमला करवाया गया है। जिसकी निष्पक्ष जांच कराते हुए दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही की जाए। 


No comments

Post a Comment

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR