Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

Jabalpur: एसआईटी तैयार करेगी हिस्ट्रीशीटर रज्जाक पहलवान की कुंडली

Jabalpur: एसआईटी तैयार करेगी हिस्ट्रीशीटर रज्जाक पहलवान की कुंडली

शनिवार, 28 अगस्त 2021

/ by News Anuppur

कई सफेदपोश मददगार और पार्टनरों की बन रही सूची, अकूत संपत्ति का खंगाला जा रहा रिकार्ड


जबलपुर। विदेशी रायफल समेत अवैध असलहों के साथ दबोचे गए हिस्ट्रीशीटर अब्दुल रज्जाक उर्फ  पहलवान प्रकरण की जांच के लिए पुलिस कप्तान सिद्धार्थ बहुगुणा ने शनिवार को एएसपी सिटी रोहित काशवानी की अगुवाई में एसआईटी का गठन कर दिया है। एसआईटी में जांच का जिम्मा सीएसपी गोहलपुर अखिलेश गौर को सौंपा गया है। इसके साथ ही एएसपी क्राइम ब्रांच गोपाल खांडेल, सीएसपी ओमती आरडी भारद्धाज, सी एस पी गढ़ा तुषार सिंह, डी एस पी अजाक पंकज मिश्रा, डी एस पी सी आई डी सुशील चौहान, टी आई ओमती एस पी एस बघेल, टी आई लार्डगंज प्रफुल्ल श्रीवास्तव, टीआई कैंट विजय तिवारी, टी आई खमरिया निरूपमा पांडेय समेत 17 सदस्य शामिल किए गए है।

दर्ज हो एफआईआर

वहीं विदेशी रायफल समेत अवैध असलहों को लेकर अब पेंच फंस गया है। दरअसल जब्त हुए हथियारों के लायसेंस की भले ही अब तक पुष्टि नहीं हो पाई है।
लेकिन आरोपी पक्ष के वकील लायसेंसी हथियार होने का दावा ठोंक रहे है। वहीं पुलिस इस प्रकरण में कोई कोर-कसर नहीं छोडऩा चाहती है। अधिकारियों का कहना है कि अगर लायसेंस बनवाए गए है तो आपराधिक रिकॉर्ड और दस्तावेजों में हेरफेर कर झूठी जानकारी देने के एवज में धोखाधड़ी का एक और मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

 खौफ  के आगे पलट जाते थे गवाह

गौरतलब है कि रज्जाक पहलवान की बदमाशी के खौफ के चलते या तो गवाह बदल जाते थे या फिर शिकायतकर्ता ही अपनी रिपोर्ट वापस ले लेते थे। आरोपी के भय के चलते कई लोगों ने अपनी कीमती जमीन उसे औने-पौने दामों पर बेच दिए। कई तो दहशत में उसके खिलाफ थाने में शिकायत तक नहीं कराने पहुंचे।

रॉकई से जबलपुर फिर विदेशों तक फैलाया साम्राज्य

आरोपी रज्जाक 62 वर्ष पूर्व पिता अब्दुल वहीद के साथ रॉकई जिला नरसिंहपुर से जबलपुर आया था। जिसके बाद दूध की डेयरी से शुरुआत कर टोल नाके, रेत नाकों और माइंस की खदानों तक पहुंचने वाले आरोपी ने देखते ही देखते जबलपुर, कटनी, नरसिंहपुर सहित हैदराबाद, गोवा, मुम्बई, दुबई, साउथ अफ्रीका तक होटल, खनिज, प्रॉपर्टी के बिजनेस का साम्राज्य खड़ा कर लिया है। आरोपी का बेटा सरताज दुबई शिफ्ट हो चुका है और रज्जाक भी अपनी सल्तनत छोड़कर खुद अगले महिने दुबई शिफ्ट होने वाला था लेकिन वह अपने मंसूबे पर कामयाब होता उसके पूर्व ही पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

 नेता-अधिकारियों समेत कई होंगे बेनकाब

गौरतलब है कि रज्जाक पहलवान के भाजपा - कांग्रेस नेताओं से घनिष्टता जगजाहिर है। इसके अलावा कई प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों से याराना भी नहीं छुपा है। जबलपुर पुलिस के एक्शन मोड को देखते हुए सभी में हड़कंप का माहौल निर्मित है। हालांकि कुछ नेताओं ने शुक्रवार को हुई कार्रवाई के बाद अपने-अपने सोशल मीडिया एकाउंट में रज्जाक के साथ खींची गई तस्वीरों को तत्काल हटा दिया है और कुछ अब भी हटाने में सक्रिय है।

कोई टिप्पणी नहीं

एक टिप्पणी भेजें

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR