Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

शासकीय खाद्यान्न की कालाबाजारी करते पाए जाने पर पिकअप वाहन राजसात

शासकीय खाद्यान्न की कालाबाजारी करते पाए जाने पर पिकअप वाहन राजसात

बुधवार, 21 सितंबर 2022

/ by News Anuppur


अनूपपुर। आदिम जाति सेवा सहकारी समिति धनगवां अंतर्गत आन वाले शासकीय उचित मूल्य दुकान कुकुरगोड़ा में 26 फरवारी की रात ग्रामीणों द्वारा खाद्यान्न की कालाबाजारी करते हुये पिकअप वाहन क्रमांक एमपी 65 जीए 1461 को पकड़ते हुयें सूचना खाद्य विभाग को दी गई थी। जहां मौके पर पहुंच कनिष्ठ आपूर्ति प्रदीप द्विवेदी द्वारा उक्त पिकअप वाहन को जब्त करते हुये कुकुरोड़ा दुकान की जांच करते हुये दुकान के खाद्यान्न को जब्त कर पिकअप वाहन को जैतहरी थाना परिसर में खड़ा करवाते हुये प्रतिवेदन एसडीएम जैतहरी को प्रेषित किया गया था। जहां एसडीएम जैतहरी ने जब्तषुदा सामग्री के निराकरण के लिये कलेक्टर न्यायालय में भेजा गया। जहां कलेक्टर ने आवष्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 6 (क) के तहत प्रकरण की सुनवाई कर पिकअप वाहन क्रमांक एमपी 65 जीए 1461 को राजसात किए जाने का आदेष पारित कर दिया गया है। 

मामले की जानकारी के अनुसार 26 फरवरी की रात्रि लगभग 8 बजे विक्रेता मंगलेष्वर जायसवाल द्वारा उचित मूल्य की दुकान कुकुरगोड़ा में पिकअप वाहन में शासकीय खाद्यान्न की लोडिंग कराते हुये ग्राम वासियों ने पकड़ते हुये थाना जैतहरी एवं खाद्य विभाग को सूचना दी गई। जहां खाद्य विभाग के कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी प्रदीप द्विवेदी ने मौके पर पहुंचकर उक्त दुकान को सील कर पिकअप वाहन को जब्त किया गया। मामले की जांच में विक्रेता खाद्यान्न गेहूं व चावल से भरी हुई 60 से 65 जूट की बोरियों को सरकारी सिलाई खुलवाकर उसे प्लास्टिक की निजी व गैरसरकारी बोरियों में पलटी करवाकर उनकी मोहड़ी को धागे से बंधवा कर रखा गया था। पूछताछ में विक्रेता ने बताया कि दूसरी सोसाइटी वितरण के लिये खाद्यान्न घट गया है एवं उसकी पूर्ति के लिये इस खाद्यान्न को दूसरी सोसाईटी में लेकर जाने की बात कही गई। वहीं दुकान की जांच में प्लास्टिक की बोरियों में लगभग 10 कट्टी खाद्यान्न रखा हुआ पाया गया तथा मौके पर ही शासकीय जूट की बोरियों से प्लास्टिक की बोरियों में पलटी किये हुये पाये गये तथा खाद्यान्न का तौल करवाने पर चावल 1186 किलोग्राम, गेहूं 954 किलोग्राम भंडारित पाया गया है। 

मामले की जांच में जांच अधिकारी द्वारा उचित मूल्य दुकान में भंडारित किये गये स्टॉक का भौतिक सत्यापन कर आनलाइन स्टॉक पंजी व समिति प्रबंधक द्वारा उपलब्ध कराये गे स्टॉक/बिल बाउचर से मिलान किया गया। मामले के बाद आदिम जाति सेवा सहकारी समिति के प्रबंधक सालिग राठौर ने विक्रेता कुकुरगोड़ा मंगलेष्वर जायसवाल को निलंबित कर दिया गया था। 

जिसके बाद प्रकरण मे कलेक्टर न्यायालय द्वारा आवष्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 6 (क) के तहत प्रकरण की सुनवाई कर उक्त जप्तषुदा पिकअप वाहन क्रमांक एमपी 65 जीए 1461 को शासन के पक्ष में अधिहरण (राजसात) किए जाने का निर्णय करते हुए आदेष पारित किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं

एक टिप्पणी भेजें

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR