Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

जिला चिकित्सालय को बेहतर स्वास्थ्य सुविधायुक्त बनाने कलेक्टर ने किया निरीक्षण

Wednesday, December 18, 2019

/ by News Anuppur


अस्पताल परिसर के निर्माणाधीन कार्य सहित मेंटनेंस कार्यो का लिया जायजा
अनूपपुर। कायाकल्प योजना के तहत जिला चिकित्सालय को बेहतर स्वास्थ्य सुविधायुक्त बनाने के उद्देश्य से जिला प्रशासन के नेतृत्व में कराए जा रहे निर्माण कार्यो एवं मेंटनेंस के कार्यो का 18 दिसम्बर की दोपहर कलेक्टर चंद्र मोहन ठाकुर ने निरीक्षण किया, जहां कलेक्टर ने चिकित्सालय के समस्त वार्डो सहित बाहरी परिसरों में किए जा रहे निर्माण कार्यो को देखते हुए 6 नोडल अधिकारियों को 31 दिसम्बर तक कार्यो पूर्ण करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने अस्पताल परिसर में जानवरो के प्रवेश को पूर्णत: प्रतिबंधित करने तथा जिला चिकित्सालय के दोनो प्रवेश द्वार को बंद रखने तथा परिसर के अंदर किसी भी वाहन को प्रवेश नही दिए जाने की बात कही इसके साथ ही चिकित्सालय परिसर में गेट नंबर 2 से सिर्फ एम्बुलेंस वाहन को ही प्रवेश दिए जाने तथा अन्य वाहनो को गेट नंबर 2 के पास स्व-सहायता भवन के खाली परिसर पर ही वाहन पार्किंग के निर्देश दिए गए। इसके साथ ही अस्पताल के मुख्य प्रवेश द्वार के साथ बाहरी परिसर में पानी निकासी सहित पूरे परिसर को पेपर ब्लॉक से समतलीकरण कराने, बाहरी दिवालों की पुताई, एवं अस्पताल परिसर के अंदर एवं बाहर तीन जगहो पर गार्डन बनाए जाने के लिए उपसंचालक उद्यान विभाग अधिकारी बीडी नायर से गमलों में फूलों को लगाने आदेशित किया। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने भवन में रोशनी का विशेष ध्यान रखते हुए ट्यूब लाइन के स्थान पर हाई मास्क एलईडी लाईट लगाने के निर्देश सिविल सर्जन डॉ. एससी राय को दिया गया। वहीं बिल्ंिडग की दीवालो पर पेंटिंग के माध्यम से सूचनाओं एवं दीवार पर पोस्टर चिपकाने पर रोक लगाते हुए दीवाल पर अलग से बोर्ड लगाते हुए सूचनाओं फ्लैश करने के निर्देश दिए गए। जबकि मेटरनिटी बिल्डिंग में पीछे की ओर लगे चैनल गेट को अस्पताल की सुरक्षा को देखते हुए तत्काल दीवार खड़ी कर बंद करने के निर्देश दिए। जिसके बाद कलेक्टर ने बिल्ंिडग के छत पर चल रहे मेंटनेंस का भी निरीक्षण किया गया, जहां छत पर सीपेज को रोकने हेतु हो रहे कार्य का अवलोकन करते हुए गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए गए। जिसके बाद परिसर के अंदर के शौचालयो के नवीनीकरण पर भी जाकर कार्य की गुणवत्ता देखी गई। वहीं आकस्मिक सुरक्षा हेतु प्रसव कक्ष में आगजनी सहित अन्य घटनाओं के दौरान प्रसूताओं व नवजातों सहित अन्य मरीजो को बाहर सुरक्षित निकालने हेतु बनाए गए इमरजेंसी गेट को देखकर अस्पताल प्रबंधन की प्रशांसा भी किए। वहीं निरीक्षण के दौरान सीएमएचओं डॉ. बी.डी. सोनवानी, डॉ. आर.पी. श्रीवास्तव, सिविल सर्जन डॉ. एस.सी. रॉय, डॉ. एस.आर.पी द्विवेदी, डॉ. एस.आर. परस्ते सहित स्वास्थ्य विभाग का अमला सहित ठेकेदार धर्मेन्द्र चौबे उपस्थित रहे।

No comments

Post a Comment

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR