Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

देश - विदेश

Desh - Videsh

BOLLYWHOOD

BOLLYWHOOD

JOB & EDUCTION

JOB & EDUCTION

Tech

TECHNOLOGY

CRIME

CRIME

मध्य-प्रदेश

छत्तीसगढ़

Videos

Videos

News By Picture

अमित शुक्ला की कलम से

राजनीति

टेक्नोलॉजी

ANUPPUR: सामुहिक विवाह सम्मेलन में 72 जोड़ो का हुआ विवाह

कोई टिप्पणी नहीं

कन्या विवाह के साक्षी बने प्रदेश के मंत्री, जनप्रतिनिधि एवं जिला प्रशासन 

अनूपपुर। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी कन्या विवाह योजना के अंतर्गत 1 दिसंबर को जनपद पंचायत अनूपपुर मुख्यालय बदरा के पास स्थित एसईसीएल सामुदायिक भवन में सामूहिक कन्या विवाह का आयोजन किया गया। जिसमें प्रदेश के खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के मंत्री बिसाहूलाल सिंह, कलेक्टर अनूपपुर सोनिया मीना, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रीति रमेश सिंह, एसडीएम अनूपपुर कमलेश पुरी, एसडीओपी कोतमा शिवेंद्र सिंह बघेल, जनपद अध्यक्ष धनवंती सिंह, उपाध्यक्ष तेजभान सिंह, नगर पालिका परिषद पसान के अध्यक्ष राम अवध सिंह, महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष रश्मि खरे, नगर परिषद डोला, बनगवां के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष सहित भाजपा नेता रामदास पुरी, सिद्धार्थ शिव सिंह, उदय प्रताप सिंह सहित जिला प्रशासन के विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी, ग्राम पंचायतों के सरपंच-सचिव सहित हितग्राहियों के परिजनों की उपस्थिति में सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया। जहां दूल्हों के साथ बारातियों का बाजे गाजे के साथ सामुदायिक भवन में आगमन हुआ। जहां पर खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने सभी बारातियों का स्वागत किया। इसके पश्चात कन्या पूजन के उपरांत विधि विधान के साथ पुरोहित द्वारा 72 जोड़ो का विवाह संपन्न कराया। विवाह की रस्म को पूरा करने हेतु हर वह सामग्री शासन द्वारा उपलब्ध कराई गई जो निर्धारित की गई थी। 


महिला ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, जांच में जुटी पुलिस

कोई टिप्पणी नहीं

अनूपपुर। कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत नगर की वार्ड क्रमांक 13 खम्परिया मार्ग निवासी महेंद्र उपाध्याय की 37 वर्षीय पत्नी अर्चना उपाध्याय ने 1 दिसम्बर गुरुवार की सुबह अपने ही घर में फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। घटना की जानकारी मिलने पर परिजनों द्वारा उसे तत्काल उपचार हेतु जिला चिकित्सालय ले जाया गया, जहां परीक्षण उपरांत डॉक्टर ने मृत घोषित करते हुए घटना की सूचना पुलिस को दी। जहां सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची ने मायके पक्ष के समक्ष मृतक के शव का पंचनामा कर शव को पीएम हेतु भेजा गया। जहां पीएम उपरांत शव परिजनों को सौंपते हुये पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच में जुट गई है।

मामले की जानकारी अनुसार नगर के वार्ड नंबर 13 खम्परिया मार्ग निवासी महेंद्र उपाध्याय की 37 वर्षीय पत्नी अर्चना उपाध्याय गुरुवार की सुबह प्रतिदिन की भांति बच्चों के लिए टिफिन बनाकर पति को नाश्ता कराई, जिसके बाद पति अपने दुकान चले गए। इस दौरान 11.30 बजे के लगभग पुत्र देव ने फोन कर पिता को बताया कि मॉ घर में चुनरी से रोशनदान ने फांसी लगा ली है, जानकारी पर पति महेंद्र उपाध्याय अपने साथियों के साथ घर पहुंचे। इसी बीच दूसरे घर में रह रहे मां-पिता को भी जानकारी दी। अर्चना को फांसी से उतारकर पानी डाला गया। लेकिन कुछ बोलने की स्थिति में नही होने पर उसे तत्काल ऑटो से उपचार हेतु जिला चिकित्सालय लाया गया। जहां परीक्षण दौरान डॉक्टर ने अस्पताल पहुंचने के पूर्व ही मौत होने की बात कहते हुए घटना की जानकारी पुलिस को दी। इस बीच मृतिका के मायके अंबिकापुर में पिता को जानकारी दिए जाने पर मां-पिता सहित अन्य परिजनों के साथ शाम को अनूपपुर आने पर पुलिस द्वारा मायके पक्ष की उपस्थिति में मृतिका के शव का पंचनामा कर डॉक्टर टीम से शव परीक्षण कराने बाद प्रारंभिक जांच की। इस दौरान मृतिका के आत्महत्या करने का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। वह एक सप्ताह पूर्व अपनी मां के साथ मायके से ससुराल अनूपपुर आई थी। 


पति की हत्या में प्रेमी संग पत्नी को आजीवन कारावास

कोई टिप्पणी नहीं

अनूपपुर। न्यायालय प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश अनूपपुर के न्यायालय द्वारा थाना जैतहरी के अपराध क्रमांक 251/16 की धारा 302, 201, 34 भादवि में आरोपी रोशनी पाल पति स्व. दीपक निखर उम्र 30 वर्ष निवासी आईटीआई के पास मोजर वेयर जैतहरी एवं अजय यादव पिता गणेश प्रसाद यादव उम्र 30 वर्ष निवासी ग्राम भरौला वार्ड नं. 6 थाना कोतवाली उमरिया दोनों को धारा 302, 34 भादवि में आजीवन कारावास एवं 5-5 हजार रूपये जुर्माने की राशि से दंडित किया गया है। मामले की समीक्षा न्यायालय में पेश होने के पूर्व जिला अभियोजन अधिकारी द्वारा की गई, न्यायालय में मामले की राज्य की ओर से पैरवी अपर लोक अभियोजक सुधा शर्मा द्वारा की गई है।

जानकारी के अनुसार थाना जैतहरी में 5 सितम्बर 2016 की सुबह 4.30 बजे सूचनाकर्ता मृतक के पिता नन्हे निखर ने शिकायत दर्ज कराई की 4 सितम्बर 2016 को 12 से 1 बजे छात्रावास काम करने गया था। घर में बडा लडका दीपक निखर, बहू रोशनी, छोटा लडका सतीश, पत्नी चैनवती थे। 5 सितम्बर 2016 को सुबह 4 बजे उसके लडके सतीश ने फोन पर बताया कि भाभी रोशनी और भाई दीपक घर में नहीं है, तब मैं घर पहुंचा तो मेरा बड़ा लड़का दीपक निखर एवं उसकी पत्नी अपने कमरे में नहीं थे, किचन वाला कमरा अंदर से बंद था, दरवाजा खटखटाने से नहीं खोल रहे थे, तब रॉड डालकर कमरे की सिटकनी खोलकर अंदर गया तो बहू रोशनी सो रही थी, उसे जगाकर दीपक के संबंध में पूछा तो उसने बताई कि वह बगल वाले कमरे में सोया था, वह तीजा उपवास रखी थी। इसलिये किचन वाले कमरे में सोयी है। किरायेदार से पूछने पर उसने बताया कि रात में लगभग 1 बजे दीपक ने एक बार बचाओ मार रहे हैं की आवाज दी थी, तब वह उठा दरवाजा खोला तो उसके कमरे के दरवाजे की सिटकनी बाहर से किसी ने बंद कर दिया था, तब चैखट के ऊपर छेद से बाहर की देखा तो एक हरे पट्टे कलर का शर्ट पहना सांवला सा लड़का दीपक का मुंह दबाया था, वहां पर पुलिस वाले भी आए थे, तब वह मोहल्ले के अन्य लोगों के साथ में बाड़ी तरफ टॉर्च जलाकर ढूंढने लगे तो देखा कि पीछे तरफ बाड़ी में कई जगह खून गिरा था, ढूंढते-ढूंढते बाडी के आगे कुछ लोग गए तो दीपक निखर की लाश पड़ी थी। उक्त आधार पर मर्ग इन्टीमेशन लेख की गई, मृत्यु जांच से संबंधित साक्षियों को नोटिस जारी किये गए। प्रकरण विवेचना में लिया जाकर अभियुक्तगण के कथन लेख किये गए तथा उनके आधार पर अभियुक्तगण की गिरफ्तारी की जाकर विवेचना में लिया गया। विवेचना में आरोपी रोशनी पाल का मायका ग्राम भरौला जिला उमरिया म.प्र. है, तथा आरोपी अजय यादव भी ग्राम भरौला का निवासी है और दोनों आरोपीगण पूर्व से एक दूसरे से परिचित हैं। सम्पूर्ण विवेचना पश्चात अभियोग पत्र न्यायालय में पेश किया गया, जहां न्यायालय ने आरोपीगण को दोषी पाते हुए उपरोक्त दंड से दंडित किया है।


Dastak Abhiyan अंतर्गत ORS वितरण में अनूपपुर जिला को मिला प्रदेश में पहला स्थान

कोई टिप्पणी नहीं

BHOPAL में स्वास्थ्य मंत्री ने CMHO अनूपपुर सहित 4 अन्य  अधिकारियों-कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र देकर किया सम्मानित

अनूपपुर। बाल स्वास्थ्य एवं पोषण वृद्धि के लिए प्रदेश में 18 जुलाई से 31 अगस्त तक चलाए गए दस्तक अभियान (Dastak Abhiyan) के ओआरएस वितरण में अनूपपुर जिला प्रदेश में पहले नंबर पर रहा है। जहां दस्तक अभियान में प्रथम स्थान हासिल करने पर भोपाल में 1 दिसंबर को आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चैधरी ने अपर मुख्य सचिव म.प्र. शासन मोहम्मद सुलेमान, कमिश्नर हेल्थ सुदामा खांडे, मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन प्रियंका दास, उपसंचालक शिशु स्वास्थ्य डाॅ. हिमानी यादव की उपस्थिति में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी अनूपपुर डॉ. एस.सी. राय सहित डीपीएम (DPM) सुनील नेमा, जिला टीकाकरण अधिकारी डाॅ. एस.बी. चैधरी, डीसीएम नेहा मिश्रा एवं सीनियर डाटा मैनेजर जय कुमार कहार को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग की इस उपलब्धि पर कलेक्टर अनूपपुर सोनिया मीना ने स्वास्थ्य विभाग के दल को बधाई दी है।

उल्लेखनीय है कि इस अभियान (Abhiyan) के तहत जिले के चारो विकासखंड अंतर्गत आने वाले 675 गांवों में स्वास्थ्य दल द्वारा 667 गांवो में पहुंच घर-घर दस्तक (Dastak) देते हुये 5 वर्ष तक के 82 हजार 584 बच्चों जिनमें 41 हजार 841 बालक एवं 52 हजार 777 बालिका थी। जिनका निमोनिया, कुषपोषण अनीमिया, दस्त रोग विटामिन ए अनुपूरण, आईवायसीएफ एवं पहली बार हीमोग्लोबिन मीटर (Hemoglobin Meter) से पहली बार बच्चों की हीमोग्लोबिन (HB) जांच की गई थी। जांच के दौरान गंभीर कुपोषित 779, गंभीर एनीमिया के 595, दस्त से पीड़ित 790, जन्मजात विकृत 473 बच्चे, कम हीमोग्लोबीन वाले 120 बच्चे एवं अन्य बीमारियों वाले 910 बच्चे मिले। जिसमें 2 हजार 39 बच्चों को रेफर किया गया। इसके साथ स्क्रीनिंग के दौरान 2 हजार 991 बच्चों को ओआरएस (ORS) के पैकेट एवं 4 हजार 198 बच्चो को विटामिन ए का सिरप देकर उपचारित किया।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (CMHO) डाॅ. एस.सी. राय ने बताया कि दस्तक अभियान प्रदेश की महत्वपूर्ण गतिविधियों में एक थी, इस अभियान के तहत अनूपपुर जिले से जन्म से 5 वर्ष तक के बच्चों में होने वाली बीमारियों की सक्रिय पहचान करते हुये उनका उचित उपचार करते हुये बाल मृत्यु दर में गिरावट लाने के लिये जिले की दस्तक दल का प्रयास सराहनीय रहा। जिसके कारण प्रदेश में अनूपपुर जिला नंबर एक पर पहुंच सका है।

रेत के अवैध कारोबारियों से वेंकटनगर चौकी प्रभारी की बातचीत का ऑडियो वाॅयरल, एसपी ने किया लाइन अटैच

कोई टिप्पणी नहीं

वेंकटनगर। थाना जैतहरी के पुलिस सहायता केन्द्र वेंकटनगर के प्रभारी उपनिरीक्षक रविन्द्र शुक्ला का एक ऑडियो वाॅयलर सोशल मीडिया में जमकर सुर्खियों में छाया हुआ है। जिसमें चैकी प्रभारी वेंकटनगर द्वारा रेत के अवैध कारोबार में संलिप्ता सामने आई है। जहां ऑडियो सामने आने के बाद पुलिस अधीक्षक अनूपपुर द्वारा उक्त ऑडियो को आपत्तिजनक एवं पुलिस आचरण के प्रतिकूल प्रतीत होने पर पुलिस सहायता केन्द्र वेंकटनगर प्रभारी रविन्द्र शुक्ला के उक्त कदाचरण की जांच पूर्ण होने तक पुलिस लाईन अटैच कर दिया गया है।

उक्त वाॅयरल में पुलिस सहायता केन्द्र वेंकटनगर के प्रभारी द्वारा रेत के अवैध कारोबारियों से जुड़े लोगो के साथ मिलकर लगातार हो रही रेत शिकायत होने पर दिन के समय रेत का उत्खनन एवं परिवहन बंद किये जाने तथा शिकायत करने वाले दूसरे व्यक्ति के खिलाफ होते हुये उसे फंसाने के लिये योजना बनाने और जैतहरी, राजेन्द्रग्राम सहित अन्य जगह पर पकड़वाने का ऑडियो वाॅयलर हुआ है। जिस पर वेंकटनगर पुलिस पर अवैध कारोबार में संलिप्ता सामने आती है। वहीं  वाॅयरल सोशल मीडिया में आने के बाद पुलिस अधीक्षक ने तत्काल ही पुलिस सहायक केन्द्र वेंकटनगर के प्रभारी रविन्द्र शुक्ला को पुलिस लाइन अटैच कर दिया गया है।


© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR