Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

देश - विदेश

Desh - Videsh

BOLLYWHOOD

BOLLYWHOOD

JOB & EDUCTION

JOB & EDUCTION

Tech

TECHNOLOGY

CRIME

CRIME

मध्य-प्रदेश

छत्तीसगढ़

Videos

Videos

News By Picture

अमित शुक्ला की कलम से

राजनीति

टेक्नोलॉजी

https://static01.nyt.com/images/2021/10/14/sports/14nfl-emails1/merlin_196280082_7a426558-3d48-4767-b9d3-87436fa2042f-mediumThreeByTwo440.jpgN.F.L.’s Top Lawyer Had Cozy Relationship With Washington Team President

कोई टिप्पणी नहीं

By Ken Belson and Katherine Rosman from NYT Sports https://ift.tt/3iZnyo0

https://ift.tt/3lA3Sc6, Already Out of a Job, Is Losing Relationships Too

कोई टिप्पणी नहीं

By Ben Shpigel from NYT Sports https://ift.tt/3lBFHd9

आईजीएनटीयू अमरकंटक की छात्रा ने अपने ही प्रोफेसर पर लगाया दुष्कर्म का आरोप

कोई टिप्पणी नहीं

 शादी का झांसा देकर लगातार करते रहे छात्रा का शरीरिक शोषण

अनूपपुर।  इंदिरा गांधी जनजातीय विश्वविद्यालय अमरकंटक लगातार इन दिनों सुर्खियों में छाया हुआ है, जहां पर 25 सितम्बर को पं. दीनदयाल उपाध्याय के जयंती पर आयोजित ऑनलाईन व्याख्यान में अश£ील वीडियों के चलने का मामला ठंडा भी नही हुआ था कि विश्वविद्यालय अमरकंटक में पीएचडी की छात्रा से उसके ही प्रोफेसर द्वारा शादी की झांसा देकर जबरन कई बार शारीरिक संबंध बनाए जाने का मामला सामने आया है। जिसकी शिकायत छात्रा द्वारा 11 बिन्दुओं में महिला थाना शहडोल में दर्ज कराई है। लेकिन एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी अब तक इस मामले में पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नही की गई।

यह है मामला

आईजीएनटीयू अमरकंटक में अध्ययनरत पीएचडी की छात्रा  ने शिकायत में बताया कि मार्च 2020 में जब कोरोना महामारी को लेकर लॉकडाउन शुरू हुआ तब मेरे ही कॉलेज के प्रोफेसर राकेश ङ्क्षसह मेरे रूम में आए और सामान्य बातचीत करते हुए मेरे साथ मेरी इच्छा के विरूद्ध मेरे साथ दुष्कर्म किए, जहां मेरे विरोध किया गया तो उन्होने मुझे अपनी पत्नी बनाकर रखने की बात कही गई।

पत्नी बनाने का झांसा देकर करते रहे दुष्कर्म

छात्रा ने बताया कि मै पूर्व में शादीशुदा होने की बात बताए जाने के बाद भी प्रो. राकेश सिंह द्वारा मुझसे जबरन शरीरिक संबंध बनाया गया, जिसके बाद मैने पूरी घटना अपने पति को बताई, जहां पति द्वारा मेरे साथ लड़ाई झगड़ा करने लगा और उन्होने मुझे अनूपपुर न्यायालय में तलाक दे दिया। उसके बाद से प्रो. राकेश सिंह मेरे रूम में आने लगे तथा मेरी इच्छा के विरूद्ध शारीरिक संबंध बनाने लगे और मुझे अपनी पत्नी बनाए जाने का आश्वासन देने लगे।

अमरकंटक होटल में भी किया दुष्कर्म

पूरे मामले में छात्रा ने बताया कि 25 सितम्बर को प्रोफेसर राकेश सिंह द्वारा मुझे जबरन शहडोल से अमरकंटक ले गए तथा अमरकंटक के होटल महेन्द्र में रूम लेकर रोका गया, जिस पर उनकी आईडी व मेरा नाम भी होलट के रजिस्टर में दर्ज है और वहां भी उन्होने मेरे साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाया और बाद में मुझे लेकर अपने रूम ले गए, जहां पर कॉलेज के कई प्रोफेसर थे, जहंा उन्होने सबके सामने मुझे अपनी पत्नी का दर्जा देने की कही थी। इसके साथ ही मुझे प्रो. राकेश सिंह की शादी और उनके पुत्र होने का पता चला, जहां प्रो. राकेश सिंह ने मुझे अपने पुत्र स्वेतब ङ्क्षसह के सामने भी अपनी पत्नी का कह देने की बात कही।

प्रोफेसर के 6 मोबाइल नंबरो का खोला राज

छात्रा ने बताया कि मेरी इच्छा के विरूद्ध मेरे साथ जबरन शरीरिक संबंध बनाए जाने व शादी की बात करने पर उनके द्वारा इंकार कर धमकी दिया जाने लगा। जिस पर छात्रा ने प्रोफेसर राकेश सिंह के 6 मोबाइल नंबरों जिनमें 9407343427, 8815702722, 6394126207, 8889042710, 8840107255 एवं 9415268276 से लगातार बात किए जाने एवं वाट्सएप पर मैसेज करने की बात कही गई। छात्रा ने बताया कि प्रो. राकेश ङ्क्षसह द्वारा मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी गई, इन्ही कारणों से मेरे पति द्वारा मुझे तलाक भी दे दिया गया, जिसके बाद मेरे माता पिता ने भी मेरा त्याग कर दिए है। जिस पर छात्रा ने प्रो. राकेश सिंह के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की मांग की है।

जंगली हाथियों से प्रभावित फसल, मकान आदि का मिलेगा मुआवजा -खाद्य मंत्री श्री सिंह

कोई टिप्पणी नहीं

मुख्यमंत्री के निर्देश पर खाद्य मंत्री ने जंगली हाथियों से प्रभावित क्षेत्रों के ग्रामीणों से की चर्चा

अनूपपुर। म.प्र. शासन के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने वन परिक्षेत्र कोतमा के ग्राम पंचायत फुलकोना के फुलवारी टोला, मलगा एवं ग्राम टांकी में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर चौपाल लगाकर जंगली हाथियों से प्रभावित परिवारों व किसानों से चर्चा कर क्षति की जानकारी प्राप्त की। इस दौरान वन मंडलाधिकारी डॉ. ए. अंसारी, एसडीएम कोतमा अभिषेक चौधरी, बृजेश गौतम, विंध्य विकास प्राधिकरण के पूर्व उपाध्यक्ष रामदास पुरी, तहसीलदार मनीष तिवारी, एसडीओपी कोतमा शिवेन्द्र सिंह, जनपद अनूपपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी बी.एम. मिश्रा, उदय प्रताप सिंह, धर्मेन्द्र सिंह, राजू गुप्ता, शिवरतन वर्मा, सरपंच मलगा पुष्पराज सिंह सहित जनप्रतिनिधिगण, किसान, प्रभावित परिवारों के लोग तथा संबंधित राजस्व एवं वन विभाग व पंचायत ग्रामीण विकास के अधिकारी उपस्थित रहे। 

खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने ग्राम मलगा, टांकीटोला, आमाडांड़, फुलवारीटोला, पौराधार क्षेत्र के जंगली हाथियों से प्रभावित ग्रामीण जनों से मुलाकात कर उनके समस्याओं का प्रशासन से निराकरण कराने के संबंध में आयोजित बैठक में भाग लेते हुए कहा कि जंगली हाथियों के समूह द्वारा जिस भी क्षेत्र में फसल, मकान आदि का नुकसान किया गया है उसका आंकलन कर प्रभावितों को मुआवजा दिलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि म.प्र. सरकार जनहितैषी सरकार है। मुख्यमंत्री सभी की चिंता करते हैं। मुख्यमंत्री के संज्ञान में कोतमा वनक्षेत्र में जंगली हाथियों से नुकसान की जानकारी है। उन्होंने मुझे निर्देश दिए कि वह संबंधित क्षेत्रों के प्रभावित लोगों से चर्चा करें तथा नुकसानी सर्वे के अनुरूप प्रभावितों को मुआवजा वितरण सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि वन एवं राजस्व विभाग द्वारा जंगली हाथियों के द्वारा ग्रामीणों के नुकसान का सर्वे कर मुआवजा प्रकरण तैयार किए गए हैं। जिसकी राशि का भुगतान संबंधितों के खाते में शीघ्र ही सुनिश्चित होगा। मंत्री ने कहा कि जंगली हाथियों के मूवमेंट पर लगातार नजर रखी जा रही है। उन्होंने ग्रामवासियों से सावधानी बरतने तथा प्रशासन का सहयोग करने की अपील की। उन्होंने ग्रामवासियों से कहा कि जंगल क्षेत्रों में ना जाएं। अन्यथा जनहानि हो सकती है। उन्होंने ग्रामवासियों से पीएम आवास योजना, उज्ज्वला योजना के अंतर्गत नि:शुल्क गैस कनेक्शन, सामाजिक सुरक्षा पेंशन आदि की भी जानकारी प्राप्त की तथा ग्रामीणों को म.प्र. शासन की जनहितैषी योजनाओं की जानकारी प्राप्त कर पात्रतानुसार लाभ उठाने को भी कहा। 

इस अवसर पर वनमंडलाधिकारी डॉ. ए. अंसारी ने जंगली हाथियों के द्वारा किए गए नुकसान तथा विभाग द्वारा की जा रही कार्यवाही की जानकारी प्रस्तुत की गई। एसडीएम कोतमा अभिषेक चौधरी ने प्रभावित क्षेत्रों के नुकसान आंकलन का मुआवजा वितरण हेतु तैयार प्रकरणों की जानकारी प्रस्तुत की तथा लगातार सर्वेक्षण कार्य के संबंध में भी अवगत कराया।

आईजीएनटीयू अमरकंटक में गैर कानूनी रूप से कार्य परिषद के संंचालन का आरोप

कोई टिप्पणी नहीं

कार्यपरिषद सदस्य नरेन्द्र मरावी ने कार्य परिषद की बैठक को तत्काल स्थगित करने भेजा स्थगन प्रस्ताव

अनूपपुर। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय के कार्य परिषद सदस्य नरेंन्द्र मरावी ने 13 अक्टूबर को आयोजित होने वाली कार्यपरिषद की बैठक को तत्काल स्थगित करने हेतु आईजीएनटीयू अमरकंटक के कुलपति एवं अध्यक्ष कार्य परिषद को स्थगन प्रस्ताव भेजा गया। जहां स्थगन प्रस्ताव के माध्यम से कार्य परिषद सदस्य नरेन्द्र मरावी ने बताया कि आपके द्वारा विश्वविद्यालय में केवल जनजातियों के विरूद्ध में ही कार्य किया जा रहा है तािा लगातार जनजाति सदस्य की उपेक्षा, कार्य परिषद के सदस्य होने बावजूद जनजातीय होने के कारण अपमान करना, तथा विश्वविद्यालय को निजी संपत्ति समझकर गैर कानूनी रूप से कार्य करने की कार्यवाही आपके द्वारा की जा रही है। 

जिसको लेकर नरेन्द्र मरावी ने कार्यपरिषद की बैठक का स्थगन प्रस्ताव भेजने का कारण हजारों छात्रों के भविष्य का है। जहां आपके द्वारा जानबूझकर राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के विपरीत जाकर पाठ्यक्रम का स्ट्रक्चर बनवाया गया तथा जबरजस्ती बिना दिखाएं, बिना विचार विमर्श किए, बिना चर्चा किए पाठ्यक्रम का स्ट्रक्चर जबरजस्ती पारित करवाने की साजिश की गई है। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय अधिनियम 2007 की धारा 24, 25, 26, 27, 28, 29 के अनुसार अलग-अलग समिति/परिषद में जनजाति सदस्यों की संख्या पर्याप्त होनी चाहिए थी, लेकिन अलग-अलग समिति/ परिषद में विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा ऐसा प्रयास किया गया है कि उसमें कम से कम जनजाति सदस्य रहे या ना रहे। यह कृत्य समस्त शिक्षा जगत को कलंकित करने वाला कार्य है  जहां आपके द्वारा किए जा रहे गैर कानूनी एवं अपराधिक कृत्यों पर अपराध पंजीबद्ध करने का आवेदन कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक से भी की गई है।

मानव दुर्व्यापार के अंर्तराज्यीय गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफाश, 5 गिरफ्तार, 5 फरार

कोई टिप्पणी नहीं

2.5 लाख में 14 वर्षीय नाबालिग का किया गया था सौदा

अनूपपुर। मानव दुर्व्यापार के संबंध में संगठित गिरोह का पर्दाफाश करने में अनूपपुर पुलिस को महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त हुई है। जहां पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल को सूचना प्राप्त हुई कि कुछ लोग नाबालिग लड़की को लेकर संदिग्ध हालत में थाना कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पसला जा रहे है। सूचना पर पुलिस अधीक्षक द्वारा सम्पूर्ण घटनाक्रम की जानकारी लेते हुए कोतवाली पुलिस को कार्यवाही हेतु निर्देषित किया गया।

जहां 10 अक्टूबर के रात्रि 10 बजे ननका ढ़ाबा ग्राम पसला पहुंच कर उक्त व्यक्तियों के संबंध में जानकारी एकत्रित की गई। जहां अंकित जयसवाल ढ़ाबा संचालक उम्र 38 वर्ष से पूछने पर पता चला कि बालिका रिंकू उम्र 14 वर्ष (परिवर्तित नाम) को कुछ व्यक्तियों द्वारा शादी का प्रलोभन देकर दुर्व्यापार हेतु ले जाया जा रहा है। जहां पुलिस ने क्षेत्र की घेराबंदी कर आरोपियों की सघन तलाश शुरु करने पर कैलाश चंद्र सैनी, नौरून लाल, राजेन्द्र सैनी निवासी ग्राम बबई झुंझुंनू राजस्थान एवं विष्णु करण निवासी ग्राम इंद्रगढ़ जिला दतिया को पुलिस टीम द्वारा हिरासत में लेते हुए पूछताछ प्रारंभ की गई। 

पूछताछ के दौरान पता चला कि इनके द्वारा मूलचन्द्र निवासी जिला दतिया के माध्यम से पीडि़ता रिंकू के पिता सतीश सारथी निवासी समोली जिला सूरजपुर छ.ग. के द्वारा शादी के नाम पर 2.5 लाख रुपये में सौदा किया गया था। जिसे लेकर वो झुंझुनू राजस्थान जा रहे थे। उक्त सौदे में पीडि़ता रिंकू के पिता सतीश सारथी की भी आपराधिक भूमिका थी, जिसके द्वारा पैसों की एवज में अपनी बेटी का सौदा किया गया। घटना में ग्राम समौली जिला सूरजपुर का एक एजेन्ट भी सम्मिलित है। जिसके माध्यम से पैसों का लेन देन किया गया था। जिसकी तलाश पुलिस टीम द्वारा की जा रही है। आरोपियों ने बताया कि वो ग्राम सिंदली से कार में 9 व्यक्ति ग्राम समौली जिला सूरजपुर आये थे। जिसमें मूलचन्द्र, राजू, नरेश, चन्द्रभान और भवरलाल सौदे के उपरांत चले गये। संपूर्ण घटनाक्रम के आधार पर थाना कोतावली में धारा 363, 366ए, 370 का मामला पंजीबद्ध किया गया है। प्रकरण में आरोपी कैलाश सैनी, नौरुल सैनी, राजेन्द्र सेनी निवासी सिंघली, वाहन चालक विष्णु करण तथा पीडि़ता के पिता सतीश सारथी को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। जिन्हे न्यायालय में प्रस्तुत कर पुलिस रिमांड प्राप्त करते हुए पूछताछ की जाएगी। आरोपियों से सौदेबाजी के 98 हजार रूपए भी जप्त किये गये है।

प्रकरण में 10 आरोपी बनाये गये है। जिसमें से 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, शेष 5 आरोपियों के लिए विषेष टीम गठित कर गिरफ्तारी के प्रयास किया जा रहा है। जिसके लिए पुलिस अधीक्षक ने आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु 10 हजार रूपए का इनाम घोषित किया गया है। सम्पूर्ण कार्यवाही में पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल के निर्देशन एवं मार्गदर्शन में कोतवाली प्रभारी अमर वर्मा, उपनिरीक्षक सोनम सोनी, प्रवीण साहू, सहायक उपनिरीक्षक सुरेश अहिरवार की भूमिका सराहनीय रही है।

लहरू कोल को प्रत्येक मंगलवार थाना अनूपपुर के समक्ष हाजिरी दर्ज कराने का आदेश

कोई टिप्पणी नहीं

अनूपपुर। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी सोनिया मीना ने अनावेदक लहरू कोल पिता समाली कोल उम्र 48 वर्ष निवासी पसला थाना कोतवाली अनूपपुर जो वर्ष 2014 से 2019 तक लगातार 12 आपराधिक गतिविधियों में संलग्न पाया गया है को 31 मार्च 2022 तक की कालावधि तक प्रत्येक मंगलवार के 12 बजे दिन थाना प्रभारी अनूपपुर के समक्ष व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर हाजिरी दर्ज कराने का आदेश दिया है। उन्होंने अनावेदक को आदेश दिया है कि वह अपने आपराधिक कृत्यों को पूर्णत: त्याग दे, अन्यथा एक भी आपराधिक प्रकरण दर्ज होने की दशा में उसके विरुद्ध जिला बदर का प्रकरण पुन: प्रांरभ किया जाकर समुचित कार्यवाही की जा सकेगी। यह भी स्पष्ट किया जाता है कि उपरोक्त आदेश का पालन न करने, उल्लंघन करने या विरोध करने पर, म.प्र. राज्य सुरक्षा अधिनियम 1990 की धारा 14 के अंतर्गत अनावेदक को गिरफ्तार किया जावेगा जो 3 वर्ष के कारावास व जुर्माने से दंडनीय होगा।   

पुलिस अधीक्षक अनूपपुर ने अनावेदक के विरुद्ध प्रतिवेदन में लेख किया है कि, अनावेदक वर्ष 2014 से अपराध जगत में प्रवेश कर लगातार आपराधिक जीवन व्यतीत कर रहा है। अनावेदक आदतन अपराधी है, जो थाना क्षेत्र अनूपपुर में मारपीट, गुंडागर्दी, रुपये पैसो का दांव लगाकर जुंआ खेलना तथा अवैध मदिरा का व्यापार करना जैसे अपराधों में संलिप्त है। अनावेदक के विरुद्ध थाने में कई आपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध है तथा अनावेदक के विरुद्ध समय-समय पर अपराधों में अंकुश लगाने हेतु प्रतिबंधात्मक कार्यवाहियां की गई, किन्तु अनावेदक के आपराधिक प्रवृत्ति में कोई सुधारात्मक प्रभाव नहीं पड़ा है, लगातार अपराध जगत में अग्रसर होता जा रहा है। अनावेदक के आपराधिक कृत्य से आम जनता में भय व्याप्त है, जिसके कारण आमजन थाने में रिपोर्ट करने एवं गवाही देने से डरते हैं। उपरोक्त परिस्थितियों में अनावेदक के विरुद्ध म.प्र. सुरक्षा एवं लोक व्यवस्था नियम की धारा 5, 6, 7 के अंतर्गत कार्यवाही किया जाना आवश्यक है।   

© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR