Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

देश - विदेश

Desh - Videsh

BOLLYWHOOD

BOLLYWHOOD

JOB & EDUCTION

JOB & EDUCTION

Tech

TECHNOLOGY

CRIME

CRIME

मध्य-प्रदेश

छत्तीसगढ़

Videos

Videos

News By Picture

अमित शुक्ला की कलम से

राजनीति

टेक्नोलॉजी

Anuppur जिला सहित प्रदेश के पांच जिला रेड जोन में शामिल

No comments

अनूपपुर। मध्य-प्रदेश में बढ़ते कोरोना पॉजिटिव मरीजो की संख्या के कारण प्रदेश के पांच जिले में अनूपपुर रोडजोन में शामिल किया गया। इसमे विंध्य क्षेत्र के सीधी, सिंगरौली, राजगढ़ और विदिशा जिला है। इन जिलों में पॉजिटिव दर सर्वाधिक 27  प्रतिशत जबकि अन्य जिलों में 19 प्रतिशत है। 

दरअसल लगातार बढ़ते संक्रमण के कारण सरकार के अनुसार अनूपपुर, सीधी, सिंगरौली, राजगढ़ और विदिशा में संक्रमण का ज्यादा खतरा दिखाई दे रहा है। पांचो जिलो की स्थिति चिंताजनक है। हालांकि संक्रमण की रोकथाम के लिए अलग-अलग तरीके से प्रशासन द्वारा एक्शन लिए जा रहे है, नित नए प्लान लागू किये जा रहे है।

Covid सेंटर कोतमा में मरीजों से मिलने पहुंचे भाजपा जिलाध्यक्ष बृजेश गौतम

No comments

अनूपपुर। कोरोना संकट के दौरान 11 मई की रात मरीजो के स्वास्थ्य की जानकारी लेने भाजपा जिलाध्यक्ष बृजेश गौतम ने पीपी किट पहन कर कोतमा कोविड सेंटर पहुंचे। जहां उन्होने कोविड़ सेंटर का निरीक्षण करते हुए मरीजो से बात कर उनकी समस्याओं का समाधान करने का आश्वासन दिया है। 

जानकारी के अनुसार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोतमा में मरीजों द्वारा भोजन और पानी को लेकर शिकायतें सामने आ रही थी, जिस पर उन्होने तत्काल समाधान कराया। उन्होने कहा कि कोविड़ केयर में जो भी समस्याएं आती है उसे पार्टी के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं द्वारा निगरानी की जाएगी और प्रशासन से  समस्या के समाधान के लिए प्रयास किया जाएगा। 


Kotma News : कोतमा मे प्रशासन ने कोविड के नियमों के उल्लंघन पर 6 दुकानों को किया सील

No comments

कोतमा। नगर में संचालित  दुकानो को कोविड-19 नियमों का पालन ना करने के कारण जिला प्रशासन की संयुक्त टीम ने 6 दुकानों को 3 दिनों के लिए सील कर दिया है। 

जानकारी के अनुसार सभी दुकानो पर कोरोना कर्फ्यू के नियम के विरूद्ध गाइडलाइन का पालन नही करने पर कार्यवाही की गई है। जिस पर संयुक्त टीम ने 11 एवं 12 मई को कृतिका एंटरप्राइजेज, महामाया कार केयर, इम्तियाज किराना स्टोर, सुनील किराना, सचिन ट्रेडर्स, संगम ड्रेसेस को एसडीएम कोतमा ऋषि सिंघई के निर्देश पर पटवारी राजीव द्विवेदी, मयंक चतुर्वेदी, दीपक तिवारी, राम सिंह, जितेंद्र चैधरी सहित नपा के कर्मचारियों ने कोविड नियमों का उल्लंघन पर आगामी आदेश तक के लिए सील किया है।


Anuppur news: मंगलवार 1196 की रिपोर्ट में से 146 में कोरोना संक्रमण की पुष्टि, एक्टिव प्रकरण 1673

No comments



अनूपपुर।
स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार को प्राप्त 1196 की रिपोर्ट में से 146 में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। रिपोर्ट प्राप्त होते ही स्वास्थ्य विभाग के दिशा निर्देशों के अनुसार संक्रमितों को कोविड केयर सेंटर शिफ्ट करने/ होम आइसोलेशन हेतु निर्देशित करने, सम्बंधित कंटेनमेंट क्षेत्रों में स्क्रीनिंग एवं संक्रमितों के प्राथमिक कांटैक्ट के सैम्पल लेने की कार्यवाही की जा रही है।       

उल्लेखनीय है कि अब तक प्राप्त कोरोना जाँच रिपोर्ट में से जिले में 7724 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। वर्तमान में ऐक्टिव कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 1673 है। मंगलवार को 261 व्यक्ति स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किए गए। इस प्रकार अब तक 5987 कोरोना पॉजिटिव मरीज स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किये जा चुके हैं।

Patna Politics : नक्सल कैंपों में पहुंचा कोरोना वाॅयरस, 10 से ज्यादा नक्सलियों की हुई मौत

No comments


पटना।
सुप्रीमो और पूर्व सांसद पप्पू यादव को पटना पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। मंगलवार की सुबह पटना में बुद्धा कॉलोनी थाने की पुलिस टीम ने पप्पू यादव को घर पर ही नजरबंद कर दिया। इसके बाद पटना के मंदिरी स्थित आवास से पप्पू यादव को हिरासत में ले लिया गया है और उन्हें गांधी मैदान थाने ले जाया गया है। पप्पू यादव के करीबी नेता से ऑनलाइन से बातचीत में बताया है कि उन पर लॉकडाउन तोड़ने की धाराएं लगाई गई हैं।

पोल खोलने की मिली सजा 

पप्पू यादव ने तीन दिन पूर्व सांसद मद से खरीदे गए एंबुलेंस के बेकार पड़े होने को लेकर खुलासा किया था। उन्होंने खुद उस स्थल पर पहुंचकर एंबुलेंसों की तस्वीर ली थी। उन्होंने राजीव प्रताप रूडी पर इसके लिए वीडियो के साथ गंभीर आरोप लगाए थे। ठीक इसी के बाद इसके बाद बिना अनुमति के सामुदायिक भवन में अपने समर्थकों के साथ जाने और एंबुलेंस में तोड़फोड़ किए जाने के खिलाफ पप्पू यादव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। लेकिन पटना पुलिस ने गिरफ्तारी दूसरे यानि लॉकडाउन तोड़ने के मामले में की है।


Chhattisgarh नक्सल कैंपों में पहुंचा कोरोना वाॅयरस, 10 से ज्यादा नक्सलियों की हुई मौत

No comments


रायपुर।
कोरोना वायरस का संक्रमण देशभर भर में बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण ने छत्तीसगढ़ में नक्सलियों को भी अपनी चपेट में ले लिया है। दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव ने दावा किया कि दक्षिण बस्तर के जंगलों में फूड पॉइजनिंग और कोरोना इंफेक्शन से 10 से ज्यादा नक्सलियों की मौत हो गई है।

100 से ज्यादा नक्सली वायरस से संक्रमित

जानकारी के अनुसार दंतेवाड़ा के एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने दावा किया है कि दक्षिण बस्तर के जंगलों में कोरोना वायरस से भयावह स्थिति बनी हुई ह। यहां 100 से अधिक छोटे और बड़े कैडर के नक्सली कोविड-19 की चपेट में आ चुके हैं।

नक्सली सरेंडर करें तो होगा इलाज-बस्तर आईजी

बस्तर के महानिरीक्षक सुंदरराज पी ने कहा, नक्सलियों का इलाज कराने के लिए सरकार डॉक्टर नहीं भेज सकती। पुलिस घायल नक्सलियों का भी इलाज कराती है। नक्सली बंदूक लेकर सरकार से लड़ रहे हैं. अगर वे सरेंडर करेंगे तो इलाज किया जाएगा। स्वास्थ्य अमले को उनके बीच भेजने का सवाल ही नहीं है।

छत्तीसगढ़ में 1.25 लाख एक्टिव केस 

छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान 11867 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद वायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या अब बढ़कर 8,63,343 हो गई है. राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ में अब तक 8 लाख 63 हजार 343 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। उनमें 7 लाख 27 हजार 497 मरीज संक्रमण मुक्त हुए हैं। राज्य में फिलहाल 1 लाख 25 हजार 104 मरीजों का इलाज चल रहा है और वायरस से संक्रमित 10 हजार 742 लोगों की मौत हुई है।


Anuppur News: उचित मूल्य की दुकानो में गरीबो को समय पर नही मिल रहा तीन माह का खाद्यान्न

No comments

 

दुकानों में खाद्यान्न भंडारण करने में परिवहनकर्ता नाकाम, प्रशासन ने साधी चुप्पी

अनूपपुर। कोरोना संकटकाल पर प्रदेश शासन ने गरीब एवं पात्र हितग्राहियों को तीन माह (अप्रैल-मई-जून) का निः शुल्क खाद्यान्न वितरण किए जाने के आदेश जारी किया गया था, जिसमें नियमिति आवंटन के साथ प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का आवंटन शामिल है। जिसे जिले के लगभग 1 लाख 40 हजार पात्र हितग्राहियों 15 मई तक वितरण किया जाना था, जिसके लिए कलेक्टर ने निगरानी समिति बनाई जिसमें जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम, समस्त वेयर हाउस प्रभारियों तथा परिवहनकर्ताओं को सक्त निर्देश दिए गए थे। लेकिन गरीबो को उचित मूल्य की दुकान से मिलने वाला खाद्यान्न फौजी ट्रांसपोर्ट जिले के जैतहरी एवं राजेन्द्रग्राम विकासखंड अंतर्गत आने वाली दुकानो तक पहुंचाने में नाकाम दिखाई दे रहा है। जिसके कारण जैतहरी के लगभग 45 दुकानो तथा पुष्पराजगढ़ के 65 दुकानो में खाद्यान्न नही पहुंच सका है। 

कहां गई निगरानी समिति

शासकीय उचित मूल्य की दुकान में तीन माह का खाद्यान्न भंडारण के सख्त निर्देश तथा गरीब पात्र परिवारों को मिलने वाला खाद्यान्न पर किसी तरह का ध्यान नही दिया जा रहा है और न ही पूरे मामले में कलेक्टर ने खाद्यान्न न पहुंचने व योजनाओं का लाभ गरीबो को न मिलने पर कोई कार्यवाही नही की जा रही है। जिसका खमियाजा आपदा के समय गरीब परिवार उठा रहे है, जिले के दो विकासखंड जैतहरी एवं पुष्पराजगढ़ ऐसे है जहां पर शासकीय दुकानो में खाद्यान्न का भंडारण नही होने के कारण कोरोना संकटकाल में हितग्राही परेशान है और तीन माह का राशन पाने के लिए दुकानो के चक्कर काट रहे है।

बिना राशन लिए वापस लौट रहे हितग्राही 

कहने को तो अनूपपुर जिला खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री का गृह जिला है, जहां पर राशन पाने के लिए जिले पात्र हितग्राही शासकीय उचित मूल्य की दुकानो का चक्कर काट रहे है, लेकिन दुकानो में खाद्यान्न उपलब्ध न हो पाने के कारण उन्हे वापस लौटना पड़ रहा है। ऐसे में आपदा के इस दौर से गुजर रहे गरीब की थाली खाली पड़ी हुई है। वहीं जिले के दो ऐसे विकासखंड जैतहरी एवं राजेन्द्रग्राम है जहां गरीब परिवार को तीन माह के खाद्यान्न का वितरण 15 मई तक किया जाना था, लेकिन अभी तक परिवहन कर्ता द्वारा आवंटन से प्राप्त खाद्यान्न की आधा मात्रा तक दुकानो में नही पहुंचा सके है।

पुष्पराजगढ़ की 60 एवं जैतहरी के 45 दुकानो में नही पहुंच सका खाद्यान्न

राशन लेने पहुंच रहे गरीब परिवार के बिना राशन लिए वापस जाने का कारण पूछा गया तो पता चला कि उनके अभी राजेन्द्रग्राम सहित जैतहरी के आधे से अधिक दुकानो में परिवहन कर्ता द्वारा खाद्यान्न का भंडारण ही नही किया गया है। जिसके कारण उन्हे तीन माह का राशन एक मुश्त नही मिल पा रहा है। वहीं कई सेल्समैनो का कहना है कि परिवहनकर्ता द्वारा राशन का भंडारण नही करा पा रहे है, जिसके कारण जो भी राशन दुकान पहुंचा है उससे ही हितग्राहियों को तीन माह का राशन दिया जा रहा है। वहीं परिवहनकर्ता द्वारा खाद्यान्न का परिवहन नही किए जाने के कारण वितरण करने में भी लगातार परेशानी बनी हुई है। 

नियमिति आवंटन ही नही पहुंचा पा रहे परिवहनकर्ता

पूरे मामले में जहां अब तक परिवहन कर्ता फौजी ट्रांसपोर्ट द्वारा जैतहरी व राजेन्द्रग्राम की दुकानो में नियमित आवंटन का खाद्यान्न नही पहुंचा पा रहे है, जिससे गरीब परिवारो का योजना का लाभ आपदा के समय नही मिल पा रहा है। जबकि दो माह का प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत भी खाद्यान्न का वितरण 15 मई से 10 जून तक किया जाना है। लेकिन आवश्यर्च की बात है कि अभी नियमिति आवंटन को छोड़ दिया जाए तो प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का लाभ हितग्राहियों को कैसा मिल सकेगा। वहीं इस पूरे मामले की जानकारी एमपीडब्ल्यूएलसी के प्रबंधको, म.प्र. स्टेट सिविल के प्रबंधक एवं खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अधिकारियों को होने के बाद भी इस ओर किसी तरह की कार्यवाही नही की जा रही है।


© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR