Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

कलेक्ट्रेट कार्यालय में जबरन प्रवेश पर पुलिस और छात्र-छात्राओं के बीच हुई धक्कामुक्की

Friday, January 10, 2020

/ by News Anuppur


अभाविप ने शासकीय महाविद्यालयो की समस्याओं को लेकर छठवीं बार सौंपा ज्ञापन
मौखिक नही बल्कि लिखित में लिए समस्याओं के निराकरण का आश्वासन
अनूपपुर। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा जिले के शासकीय महाविद्यालयो में छात्र-छात्राओं की विभिन्न मांगो के निराकरण के संबंध में अब तक 5 बार दिए गए ज्ञापन के संबंध में कोई कार्यवाही नही किए जाने पर 10 जुलाई को छात्र-छात्राओं ने रैली निकाल संयुक्त कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहां ज्ञापन लेने पहुंच अपर कलेक्टर बी.डी. सिंह को छात्र-छात्राओं ने ज्ञापन देने से इंकार करते हुए ज्ञापन लेने कलेक्टर को भेजे जाने की मांग पर डट गए। जहां परिसर में पुलिस की संख्या कम होने के कारण छात्र-छात्राओं ने जबरन कलेक्ट्रेट भवन के मुख्य द्वार के पास बने बरामदे के पास जा पहुंचे। और कलेक्टर को ही ज्ञापन सौपने की जिद में अड़ते हुए जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की गई। जिसके बाद छात्र-छात्राओं का विरोध देख पुलिस संख्या को बढाया गया तथा कलेक्टर के नही होने की जानकारी देते हुए ज्ञापन अपर कलेक्टर को दिए जाने की लगातार समझाईश दी गई, लेकिन छात्र-छात्राओं ने मना करते हुए कलेक्ट्रेट भवन के अंदर घुसने का जबरन प्रयास करने लगे, जिस पर पुलिस द्वारा सभी छात्र-छात्राओं को रोकने लगे। इस बीच पुलिस और छात्र-छात्राओं के बीच जमकर धक्का मुक्की प्रारंभ हो गई जहां पुलिस ने कलेक्ट्रेट भवन का मुख्य द्वार को बंद कर दिया। वहीं लगातार 5 से 10 मिनट तक चले धक्का मुक्की में जहां पुलिस छात्र-छात्राओं को रोक रही थी इस बीच कोतवाली निरीक्षक प्रफुल्ल राय धक्का मुक्की में गिर गए। जिसके बाद तत्काल ही स्थिति की गंभीरता को देखते हुए अपर कलेक्टर बी.डी. सिंह, एसडीएम अनूपपुर कमलेश पुरी, एसडीओपी उमेश गर्ग, तहसीलदार, कोतवाली निरीक्षक प्रफुल्ल राय, यातायात प्रभारी बृहस्पति साकेत सहित पुलिस बल मौके पर उपस्थित होकर छात्र-छात्राओं को काबू में किया तथा पुलिस कलेक्टर भवन के मुख्य द्वार को घेर कर खड़े होते हुए छात्र-छात्राओं को लगातार समझाईश देते हुए ज्ञापन अपर कलेक्टर को दिए जाने की बात कही गई। इस बीच छात्र-छात्राओं ने कहा की शासकीय महाविद्यालयो की समस्याओं को लेकर लगातार अपर कलेक्टर बी.डी. ङ्क्षसह को गत वर्ष से अब तक 5 बार ज्ञापन सौंप चुके है, लेकिन अब तक समस्याओं का निराकरण नही हो सका है। अब ज्ञापन कलेक्टर को ही सौपेगे। छात्र-छात्राओं ने कहा की अब हमें आश्वासन नही बल्कि जिला प्रशासन समस्याओं के निराकरण करने लिखित में दे। जहां पर प्रशासन को मजबूरी में आकर समस्याओं के समाधान करने उन्हे लिखित में देना पड़ा। वहीं ज्ञापन में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद अनूपपुर के जिला संयोजक आशुतोष तिवारी ने बताया की सत्र 2018-19 के आवास योजना का भुगतान अभी तक छात्र-छात्राओं को नही किया गया है साथ ही पुष्पराजगढ़ महाविद्यालय में आवास योजना का फार्म ही नही भराया जा रहा है, शासकीय तुलसी महाविद्यालय में सत्र 2019-20 छात्र-छात्राओं की फीस में अचानक दोगुनी वृद्धि कर दी गई जिसे कम किया जाए, जिले के समस्त प्राईवेट विद्यालय की फीस मनमाने तरीके से बढ़ाया जा रहा है साथ में मनमानी फीस वसूल की जा रही है जिस पर सभी प्राइवेट विद्यालयो की फीस एक समान निर्धारित किए जाए। अनूपपुर जिला आदिवासी बहुल्य क्षेत्र है जहां छात्र-छात्राओं की छात्रवृत्ति की फीस फीडिंग गलत किया गया है जिससे छात्र-छात्राओं को शासन द्वारा निर्धारित समस्त राशि छात्रवृत्ति के रूम में नही मिल पाती है अत: छात्रवृत्ति की फीस फीडिंग द्वारा निर्धारित समस्त राशि छात्रवृत्ति के रूम में नही मिल पाती है अत: छात्रवृत्ति की फीस फीडिंग पुन: कराया जाए। सरकारी शिक्षकों द्वारा घर पर कोचिंग पढ़ाया जा रहा है जिससे वे विद्यालय में पढने वाले छात्र-छात्राओं कोचिंग आने के लिए दवाब बनाते है और न आने पर उनसे भेदभाव पूर्ण व्यवहार साथ ही प्रेक्टिकल में कम नंबर दिए जाते है अत: अनूपपुर जिले में सभी सरकारी शिक्षको की कोचिंगो पर प्रतिबंध लगाया जाए व शिक्षा के व्यवसाईकरण को रोका जाए, शिक्षा का बाजारीकरण को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्र-छात्राओं के साथ शासकीय तुलसी महाविद्यालय अनूपपुर के प्रभारी प्राचार्य डॉ. परमानंद तिवारी द्वारा छात्र-छात्राओं से मारपीट, डराना-धमकाना, गाली-गलौज किया गया जिसके प्रमाण का वीडियोग्राफी में उपलब्ध है जिस पर पीडि़त छात्रों ने थाने में शिकायत दर्ज कराई जिस पर अभ्ज्ञी तक किसी प्रकार की कोई कार्यवाही नही की गई, शासकीय महाविद्यालय जैतहरी व मुख्य सड़क के बीच के मार्ग निर्माण अभी तक नही किया गया, जिस पर पक्का मार्ग का निर्माण कार्य कराया जाए एवं कलेक्टर को दिए गए पत्र 8 जनवरी पर अविलंब कार्यवाही करने की मांग की गई है। जिसके बाद महाविद्यालयों के छात्र-छात्राओं ने नागरिकता बिल के समर्थन पर कलेक्टर परिसर में नारे भी लगाए।

No comments

Post a Comment

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR