Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

अलग-अलग मामलो में पुत्री की हत्या पर न्याय पाने भटक रहे दो पिता

बुधवार, 25 अप्रैल 2018

/ by News Anuppur

एक नाबालिग की हत्या पर कार्यवाही न करने पुलिस पर भी लगे आरोप
अनूपपुर। जिले में महिलाओ पर बढ़ रहे अत्याचार व शोषण की लगातार शिकायत के बाद भी इस लगाम नही कसा जा सका है। जिसमें थाना राजेन्द्रग्राम अंतर्गत ग्राम भमरहा मे निवास करने मोहन नायक पिता सुंदर नायक की ३२ वर्षीय पुत्री को ससुराल पक्ष द्वारा दहेज की मांग करते हुए जान से मार दिए जाने का आरोप लगाया वहीं ग्राम गिरवी निवासी सरदार नायक पिता सकरू नायक ने नाबालिग को शादी का झांसा देकर बहला फुसलाकर भगा ले जाने के बाद दिसम्बर २०१७ में उसके ऊपर मिट्टी तेल डाल आग लगा मार दिए जाने के बाद भी पुलिस द्वारा अब तक किसी तरह की कार्यवाही नही किए जाने का आरोप लगाते हुए २४ अप्रैल को पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक वैष्णव शर्मा से लिखित शिकायत कर दोषियो पर कार्यवाही की मांग की है।
पिता ने ससुराल पक्ष पर हत्या का लगाया आरोप
जहां मोहन नायक ने लिखित आवेदन देते हुए बताया कि उसकी पुत्री रेखा बाई की शादी ९ वर्ष पूर्व ग्राम हर्रई थाना अमरकंटक निवासी दिलीप नायक पिता लाल सिंह के साथ हुआ था, जहां ससुराल पक्ष द्वारा लगातार उससे दहेज की मांग को लेकर लगातार प्रताडित कर मारपीट करते थे, १६ अप्रैल को ग्राम चंदनिया में जवाहर सिंह के घर में निमंत्रण पर मेरी पुत्री रेखा बाई आई थी, जहां १७ अप्रैल को उसके पति दिलीप नायक द्वारा किसी बात को लेकर उसके साथ अपशब्दो का प्रयोग करते हुए जान से मारने की धमकी दी गई, जहां १८ अप्रैल की सुबह ९ बजे अपने मेरी पुत्री अपने ससुराल ग्राम हर्रई चली गई। जहां २२ अप्रैल की सुबह लगभग १.३० बजे मेरी पुत्री रेखा बाई की मौत होने की सूचना मुझे मिली। जहां मोहन नायक ने ससुराल पक्ष पर हत्या का आरोप लगा जांच की मांग की है।
नाबालिग से शादी कर मिट्टी तेल डाल जलाया जिंदा
वहीं २४ अप्रैल को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक से की गई लिखित शिकायत में सरदार नायक पिता सकरू नायक निवासी गिरवी ने शिकायत कर बताया कि उसकी नाबालिग पुत्री को डेढ वर्ष पूर्व ग्राम बरटोला के उग्रसेन पिता प्रताप सिंह द्वारा भगाकर लेकर गया था, जिसकी गुमशुदगी की शिकायत शिकायत राजेन्द्रग्राम थाने में दर्ज कराई थी, जिसके बाद उग्रेसन ङ्क्षसह ने मेरी नाबालिग पुत्री को घर ले आया, जहां उग्रेसन की पहली पत्नी कौशिल्या बाई तथा उग्रसेन मेरी पुत्री के साथ लगातार मारपीट करते थे और २१ दिसम्बर २०१७ को मेरी पुत्री के ऊपर मिट्टी तेल डालकर आग लगा दिया गया, जिससे रजिया की मौत हो गई। वहीं पूरे मामले में आवेदक सरदार नायक ने पुलिस पर भी मामले को गोलमाल करने का आरोप लगाया है। वहीं ससुराल पक्ष द्वारा शिकायत करने पर प्रार्थी को लगातार जान से मारने की धमकी दे रहे है। जिस पर प्रार्थी ने न्याय की गोहार लगाई है।
इनका कहना है
पूरे मामले की जांच एसडीओपी पुष्पराजगढ़ को दी गई, जांच कर कार्यवाही की जाएगी।
वैष्णव शर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनूपपुर

कोई टिप्पणी नहीं

एक टिप्पणी भेजें

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR