Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

मेधावी छात्रो की कैरियर कांउसिलिंग के लिए नही लगी वर्जुअल क्लास

शुक्रवार, 18 मई 2018

/ by News Anuppur
छात्रो के भविष्य का प्राचार्यो ने किया खिलवाड़संचालनालय के आदेशो की उडाई धज्जियां

इंट्रो- एक ओर कक्षा 12 वीं के मेधावी विद्यार्थियो को उनकी पाठ्यक्रमो के विषय पर पकड एवं रूचि के अनुसार जहां प्रदेश शासन द्वारा निजी व शासकीय शैक्षणिक संस्थानो में नि:शुल्क शिक्षा की घोषणा की, वहीं कक्षा 12 वीं में 70 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियो को वर्जुअल क्लास के माध्यम से उनकी क्षमता एवं रूचि के अनुसार भविष्य संवारने मार्गदर्शन दिया जाने की घोषणा पर जिले के चारो विकासखंडो में संचालित शा. उत्कृष्ट उमावि के प्राचार्यो ने इस कैरियर कांउसिलिंग पर लापरवाही बरतते हुए मेधावी छात्रो के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है।

अनूपपुर। लोक शिक्षण संचालनालय म.प्र. द्वारा माध्यमिक शिक्षा मंडल की कक्षा १२ वीं बोर्ड परीक्षा के परिणाम घोषित होने के बाद 15 मई को जिला शिक्षा अधिकारी को पत्र के माध्यम से जिले के चारो विकासखंडो में कक्षा 12 वीं की परीक्षा में 70 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियो एवं मेधावी विद्यार्थियो के मार्गदर्शन हेतु कैरियर कांऊसिलिंग के लिए 16 मई से प्रतिदिन 1 घंटे का वर्चुअल क्लास लगा विद्यार्थियो से सीधा संवाद स्थापित कर उनके प्रश्रो के उत्तर देने संबंधी आदेश जारी किए गए थे। लेकिन जिले के चारो विकासखंडो में प्राचार्यो की लापरवाही के कारण अब तक वर्जुअल क्लास प्रारंभ नही की गई।
क्लास के लिए 554 विद्यार्थियो की दी थी सूची
जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से विद्यार्थियो के कैरियर कांउसिलिंग के लिए जिले के चारो विकासखंडो में शासकीय व निजी विद्यालयो के 70 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले 554 परिक्षार्थियो की सूची संबंधित प्राचार्यो को मोबाइल नंबर सहित उपलब्ध कराई गई थी।  जिनमें अनूपपुर विकासखंड में 128, जैतहरी में 240, कोतमा में 118 तथा पुष्पराजगढ़ में 68 परिक्षार्थियो को सम्मिलित होना था। जिसमें चारो विकासखंड के शा. उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्राचार्यो की उपस्थिति भी  अनिवार्य थी। जिसमें छात्रो के भविष्य निर्माण हेतु उन्हे आगामी  विभिन्न पाठ्यक्रम के लिए चर्चा कर संवाद कर जानकारी देना था, लेकिन कैरियर कांउसिलिंग के लिए कोई प्रयास नही किया गया।
प्राचार्य की लापरवाही, नही लगी वर्चुअल क्लास
संचालनालय के आदेश के अनुसार जिले के चारो विकासखंडो के प्राचार्यो को कक्षा 12 वीं में 70 प्रतिशत से अधिक अंक पाने वाले विद्यार्थियो के मार्गदर्शन हेतु वर्जुअल क्लास 16 से 21 मई तक प्रतिदिन 1 घंटे प्रात: 11 से 12 बजे तक उपस्थित विद्यार्थियो को मार्गदर्शन देकर उनसे सीधा संवाद करना था, लेकिन चारो विकासखंडो के उत्कृष्ट विद्यालयो के प्राचार्यो द्वारा संचालनालय के आदेशो की धज्जियां उडाते हुए लापरवाही बरती गई है। जिसके कारण न तो 70 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले 554 परीक्षार्थियो को इस संबंध में कोई भी सूचना नही देते हुए क्लास के लिए नही बुलाया गया।
छात्रो की नही हो सकी कैरियर कांउसिलिंग
जिले के चारो विकासखंडो में संचालित शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अनूपपुर, जैतहरी, पुष्पराजगढ़ एवं कोतमा में कक्षा १२वीं के मेधावी छात्रो के लिए वर्जुअल क्लास लगाने जहां जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा चारो प्राचार्यो को विद्यार्थियो की सूची मोबाइल नंबर सहित उपलब्ध करा दी गई थी, लेकिन प्राचार्यो की लापरवाही के कारण १६ मई से प्रारंभ होने वाले इस क्लास के लिए किसी भी छात्र व उनके परिजनो को फोन कर सूचना दी जानी थी। लेकिन 18 मई तक क्लास प्रारंभ नही हो सकी। 
इनका कहना है
जानकारी मिली है, प्राचार्यो के खिलाफ नोटिस जारी कर कार्यवाही की जाएगी।

यू.के. बघेल, जिला शिक्षा अधिकारी अनूपपुर

कोई टिप्पणी नहीं

एक टिप्पणी भेजें

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR