Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

नपा उपाध्यक्ष बिजुरी के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव, कांग्रेस-भाजपा का दिखा दांव पेंच

नपा उपाध्यक्ष बिजुरी के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव, कांग्रेस-भाजपा का दिखा दांव पेंच

Sunday, May 31, 2020

/ by News Anuppur

सत्ता की लालसा और उपाध्यक्ष की कुर्सी पाने भाजपा के वरिष्ठ नेता दे रहे साथ
अनूपपुर। नगर पालिका बिजुरी में सत्ता की लालसा के चक्कर में नेता, जनप्रतिनिधि अपने-अपने वर्चस्व की लड़ाई में एक दूसरे पर आरोप लगाकर खुद सत्ता अपने पास रखना चाहते है। वैसे तो नगर पालिका बिजुरी हमेशा विवादों में घिरी रही है। कांग्रेस पार्टी की 15 महीनों की सरकार में नगर पालिका बिजुरी में आए दिन भाजपा-कांग्रेस के नेता अपने-अपने दांव पेंच खेलते रहे लेकिन नगर के विकास कार्य को लेकर किसी ने आगे आकर नही सोचा। विगत कुछ महीनों में कांग्रेस पार्टी के कुछ नेता बिजुरी नगर पालिका में सत्ता की चाभी अपने चाहने वालों के लिए मन मुताबिक अपने अधिकारी को बैठाने की होड़ मची चली तो कोई सीएमओ अपनी कार्यप्रणाली को लेकर विवादों में बने रहे। इतना ही नही सीएमओ और जनप्रतिनिधियों की लड़ाई थाने तक भी जा पहुंची। इस बीच बिजुरी नगर की जनता हर तरह के खेल को देखते रही है और इसका जवाब आगे आने वाले समय में देने की सोच भी बना ली है। वहीं कोरोना आपदा के ऐसे समय में जनता की सेवा करना छोड़कर कुर्सी की ललक व सत्ता पाने की लालसा में लगे हुए है। जहां आगे आने वाले समय में जनता से इसका जवाब मिलना भी तय हो चुका है।

यह है मामला

संयुक्त कलेक्टर अनूपपुर में 27 मई को नपा उपाध्यक्ष बिजुरी से असंतुष्ट नगर पालिका के पार्षद मुकेश जैन, अन्नू देवी, संतोष सिंह, पूनम केस कुमार चैधरी, संजय कुमार, पिंटू आशा रजक, सतीश शर्मा, सीताराम यादव, बी.के. बंसल, लक्ष्मी शुक्ला एवं वार्ड क्रमांक 13 के असंतुष्ट पार्षदो ने अविश्वास प्रस्ताव पत्र में आरोप लगाया है कि नगर पालिका बिजुरी के उपाध्यक्ष नीलम सचिन जैन अपना विश्वास खो चुकी है अतः नगर पालिका अधिनियम की धारा 43 क (2) (1) के तहत उपाध्यक्ष के विरूद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने संबंधी ज्ञापन सौंपा गया है। वहीं दूसरी ओर नगर पालिका अध्यक्ष पुरुषोत्तम सिंह एवं उनकी टीम लगातार नगर में विकास कार्यों को कराने के पर जोर दे रही है, तो वहीं दूसरी ओर विवाद खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। जिससे विकास पर जनप्रतिनिधि व नेता ही रोड़ा बन बैठे हैं।

उपाध्यक्ष को हटाने कहीं पूर्व कांग्रेस जिला महामंत्री ने तो नही रचा खेल

नपा उपाध्यक्ष बिजुरी के खिलाफ अविष्वास प्रस्ताव लाने में पूरा खेल पूर्व कांग्रेस जिला महामंत्री पर्दे के पीछे रहकर अपने नेतृत्व खिलवाया जा रहा है। जहां भाजपा के पार्षद ही नपा उपाध्यक्ष की कुर्सी पाने उनका साथ देते हुए उपाध्यक्ष बिजुरी को हटाने के लिए ज्ञापन सौंपा गया है। जानकारी के अनुसार 27 मई को नपा उपाध्यक्ष पर अविष्वास प्रस्ताव संबंधित ज्ञापन सौंपने पूर्व कांग्रेस जिला महामंत्री के साथ संयुक्त कलेक्ट्रेट पहुंचे थे। जहां उनकी अगुवाई में सौंपे गए ज्ञापन की जानकारी पूरे बिजुरी नगर की जनता को है। वैसे भी राजनीति के खेल में सत्ता की चाभी कब किस के पास आ जाएगी यह तो कोई नहीं जानता। जनचर्चा है कि उक्त नेता जिला संगठन को प्रदेश संगठन की नजर में कमजोर साबित करना एवम खुद को नपा में पैठ बनाना बताया जा रहा है। नगर पालिका बिजुरी की उपाध्यक्ष नीलम जैन ने पार्षद का चुनाव निर्दलीय लड़कर जीता और भाजपा के शीर्ष नेताओं के समक्ष भाजपा की सदस्यता दिलाई गई और उपाध्यक्ष पद का उम्मीदवार बनाया गया, लेकिन अचानक उपाध्यक्ष सभी की आंखो में खटकने लगा। वहीं बिजुरी के एक वरिष्ठ नेता द्वारा पर्दे के पीछे रहकर कांग्रेस नेताओं की अगुआई में नपा उपाध्यक्ष को हटाने के लिए कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा गया। भाजपा के वरिष्ठ नेता द्वारा रचे इस कार्य को कांग्रेस के पूर्व जिला महामंत्री की अगुवाई में भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष वर्तमान में पार्षद भी है, जिनको उस वक्त उपाध्यक्ष की कुर्सी नही मिल पाई थी, जिस अब कांग्रेस नेता से सांठगांठ कर उपाध्यक्ष की कुर्सी पाने हासिल कर उसमें बैठने का पूरा सपना भी देख चुके है।

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR