Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

Anuppur: पत्नी व छोटे पुत्र को जेल भेजकर हिस्सा न देने कहीं रची तो नही गई कहानी

Anuppur: पत्नी व छोटे पुत्र को जेल भेजकर हिस्सा न देने कहीं रची तो नही गई कहानी

Tuesday, June 22, 2021

/ by News Anuppur

मामला काॅलरी कर्मचारी पर कट्टे से चली गोली का, सामने आने लगा नया ट्वीस्ट

अनूपपुर। भालूमाड़ा थाना क्षेत्र में 21 जून को परिवारिक विवाद को लेकर काॅलरी कर्मचारी कमल प्रसाद पाटकर के ऊपर कट्टे से चली गोली के मामले में अपनी पत्नी कल्पना व सबसे छोटे पुत्र अंशुल पाटकर पर लगाया गया था। पूरे मामले की विवेचना के दौरान पुलिस ने अपने पति से अलग रही पत्नी व पुत्र के घर में दबिश दी गई, जहां मौके पर मिले दोनो लोगो सामान्य स्थिति में घर पर ही मिले साथ ही उन्हे कमल प्रसाद पाटकर पर गोली चलने की कोई जानकारी ही नही थी। जिसके बाद पुलिस ने उनके घर के आसपास के लोगो से पूछताछ की गई, जहां पूछताछ में पड़ोसियों सहित आसपास के लोगो द्वारा पत्नी कल्पना व उसके छोटे पुत्र अंशुल के घर से बाहर नही निकलने की जानकारी दी गई। जिसके बाद पुलिस ने अंशुल पाटकर के मोबाइल फोन का काॅल डिटेल व लोकेशन निकलवाया गया, लेकिन काॅल डिटेल कुछ न मिलने तथा लोकेशन उसके घर पर मिला और पूरे मामले में अब एक नई कहानी सामने आने लगी।

पति के प्रताड़ना से पत्नी हुई थी अलग

मामले में पुलिस द्वारा पीड़ित की पत्नी कल्पना पाटकर व उसके छोटे पुत्र से पूछताछ की गई, जहां पूछताछ के दौरान पता चला की कमल प्रसाद पाटकर अपनी पत्नी कल्पना पाटकर को लगातार प्रताड़ित करता था, जिससे परेशान होकर उसकी पत्नी अपने सबसे छोटे पुत्र अंशुल पाटकर को लेकर अलग हो गई और कमल प्रसाद पाटकर अपने बड़े पुत्र व पुत्री के साथ रहता है। जहां पर कुछ दिनों पूर्व पत्नी ने अपने और अपने पुत्र के भरण पोषण के लिए न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। जिस पर न्यायालय द्वारा कमल प्रसाद पाटकर को हर महीने 3 हजार रूपए महीने भरण पोषण दिए जाने का आदेश पारित किया था और अब संपत्ति बंटवारे में दोनो को जेल भेज कर हिस्सा न देने की संभावना पर मामले को अंजाम दिया जाने की कहानी रचने पर जांच की जा रही है।

विवेचना के दौरान नए मामले आ रहे सामने

पूरे मामले की जांच के दौरान पता चला कि काॅलरी कर्मचारी कमल प्रसाद पाटकर का 4 माह बाद सेवानिवृत्त होने वाले है। जहां रिटायरमेंट के बाद पत्नी कल्पना पाटकर एवं उसके सबसे छोटे पुत्र अंशुल द्वारा संपत्ति के एक तिहाई बंटवारे को लेकर न्यायालय में जाने वाले थे। जहां एक संभावना यह भी जताई गई है कि अगर उसकी पत्नी और छोटे पुत्र घटना के समय अपने घर से ही नही निकले तो गोली किसने चलाई और कमल प्रसाद पाटकर ने अपनी पत्नी और छोटे पुत्र पर गोली चलाने का आरोप क्यों लगाया गया, यह जांच का विषय बना हुआ है।

कहीं संपत्ति बंटवारे को लेकर तो नही रचा गया खेल

पूरे मामले में जहां पुलिस ने घटना स्थल का निरीक्षण किया गया, वहां पर पुलिस को न तो स्कूटी के टाॅयरों के निशान मिले और न ही किसी भी साईकिल के टाॅयरों के, जिसके बाद पुलिस पूरी विवेचना को फिर से टटोलने में लगी हुई है। वहीं कमल प्रसाद पाटकर के बयान के आधार पर उसकी पत्नी और पुत्र ने रास्ते में उन्हे रोकर पास से गोली मारी गई है, लेकिन पास से कट्टे से गोली का असर खतरनाक होता है। अब मामले में कहीं पत्नी व सबसे छोटे बेटो को बंटवारा न देने व पत्नी व छोटे बेटे को जेल भेजकर हिस्सा देने से बचा जाने का खेल तो नही खेला गया है। जिस पर भी पुलिस जांच में जुटी हुई है।

इनका कहना है

सभी बिन्दुओं की निष्पक्ष रूप से जांच की जा रही है, सभी संदेहियों से भी पूछताछ की जा रही है। मामले में जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

हरिशंकर शुक्ला, थाना प्रभारी भालूमाड़ा


No comments

Post a Comment

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR