Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

कोरोना संक्रमण के बीच शासकीय भूमि पर किया जा रहा अवैध निर्माण कार्य

कोरोना संक्रमण के बीच शासकीय भूमि पर किया जा रहा अवैध निर्माण कार्य

Friday, June 12, 2020

/ by News Anuppur


मामला ग्राम पंचायत वेंकटनगर का, पटवारी और आरआई पर खड़े हुए प्रश्नचिन्ह 
वेंकटनगर। जनपद जैतहरी अंतर्गत ग्राम पंचायत वेंकटनगर में शासकीय भूमि के अवैध कब्जा का खेल खेलते हुए कोरोना महामारी के बीच अवैध निर्माण को अंजाम दिया जा रहा है। एक ओर जहां प्रशासन कोरोना संक्रमण के बचाव व सुरक्षा के लिए आमजनों से एतिहात अपनाए जाने पर जोर दिया जा रहा है, लेकिन दूसरी ओर जिले के कई क्षेत्रों में अतिक्रमणकारियों द्वारा इसका फायदा उठाते हुए शासकीय भूमि पर कब्जा करते हुए अवैध निर्माण कार्य को अंजाम देने में मशगुल रहे। जहां इन अवैध निर्माण किए जाने की सूचना भी प्रशासन को समय पर दिए जाने पर अवैध निर्माण पर रोक नही लगा सका है।

यह है मामला

जनकारी के अनुसार ग्राम पंचायत वेंकटनगर के पनिकान टोला, इंदिरा आवास काॅलोनी मार्ग के सामने स्थित शासकीय भूमि पर कब्जा करते हुए अवैध निर्माण कार्य को अंजाम दिया गया। जिस पर पंचायत ने शासकीय भूमि से अवैध कब्जा हटाए जाने के लिए शैलेन्द्र तिवारी पिता राम निवास तिवारी को नोटिस भी जारी किया गया था, लेकिन अतिक्रमणकारी ने अवैध कब्जा तथा अवैध निर्माण जारी रखा गया। जिसके बाद शैलेन्द्र तिवारी द्वारा शासकीय भूमि पर अवैध निर्माण चोरी छिपे जारी रखा गया। जिसके बाद पंचायत ने सूचना एसडीएम जैतहरी को दी गई, जहां एसडीएम के निर्देषन में 10 जनवरी को आरआई एवं पटवारी द्वारा मौके पर पहुंच शासकीय भूमि पर किए जा रहे बांउड्रीवाॅल के अवैध निर्माण किए जाने पर रोक लगाते हुए पंचनामा बनाया गया था। जहां अवैध निर्माण कर रहे शैलेन्द्र तिवारी उर्फ रब्बू ने पंचनामा में हस्ताक्षर करने से भी मना कर दिया था। जहां पटवारी ने जांच प्रतिवेदन बनाते हुए एसडीएम जैतहरी को सौंपा था।

कोरोना संक्रमण के बीच चोरी छिपे हो रहा अवैध निर्माण

पूरे मामले में जहां एसडीएम न्यायालय के आदेशों ही अव्हेलना करते हुए वेंकटनगर में शैलेन्द्र तिवारी उर्फ रब्बू ने तीसरी बार कोरोना संक्रमण के बीच दोबारा चोरी छिपे अवैध निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। पूर्व में जब शैलेन्द्र तिवारी से फोन में बात की गई थी उन्होने भी पंचायत द्वारा नोटिस दिए जाने पर निर्माण कार्य बंद कर दिए जाने की बात कबूलने के साथ ही उक्त भूमि को स्वयं ही शासकीय मना था। वैसे तो इस कोरोना संक्रमण काल में जिले के विभिन्न क्षेत्रो जिनमें भू-माफियाओं द्वारा खाली पड़े शासकीय भूमि पर अपनी नजर गड़ा रखी थी पर अवैध तरके से कब्जा कर निर्माण कार्य कराया जा रहा है। इस ओर राजस्व महकमा किसी तरह का ध्यान नही दे रही है।

आरआई व पटवारी की भूमिका संदिग्ध
\
पूरे मामले में जहां वेंकटनगर पंचायत के शासकीय भूमि पर किए जा रहे अवैध अतिक्रमण की जानकारी के साथ ही चोरी छिपे कार्य करने के बाद किसी तरह की कार्यवाही नही किया जाना उनकी कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिन्ह खड़ा कर रहा है। जिसके कारण शासकीय भूमि पर शैलेन्द्र तिवारी उर्फ रब्बू द्वारा अपनी मनमानी कर चोरी छिपे कार्य को अंजाम कोरोना काल में दे रहा है। इतना ही नही शासकीय भूमि पर इस अवैध निर्माण कार्य को पूर्ण अंजाम दे दिया है। जिसके कारण अतिक्रमणकारी के हौसले बुलंद है। वहीं राजस्व विभाग मौन स्वीकृति धारण किए हुए है।

फिर पंचायत ने नोटिस की जारी, तहसीलदार से किया पत्राचार

वहीं कोरोना काल में चोरी छिपे शासकीय भूमि मे अवैध निर्माण किए जाने के मामले में ग्राम पंचायत वेंकटनगर ने फिर तहसीलदार को पत्र लिखते हुए शैलेन्द्र तिवारी को नोटिस जारी किया है।  वहीं पंचायत ने अपने पत्र क्रमांक/पंचायत/72/2020 दिनांक 12 जून 2020 को तहसीलदार को किए गए पत्राचार में कहा है कि शैलेन्द्र तिवारी द्वारा उक्त शासकीय भूमि पर स्थगन आदेष के बाद भी निर्माण कराया जा रहा है। जहां शासकीय भूमि पर किए जाने अवैध निर्माण कार्य के कारण पंचायत के वार्ड क्रमांक 3 एवं 4 की नाली की ध्वस्त करते हुए वार्डो के घरों से निकलने वाला गंदे पानी की निकासी रोक दी है। जिससे आगामी दिनों लोगो को परेषानियों का सामना करना पड़ सकता है। जिस पर पंचायत ने उक्त निर्माण कार्य पर तत्काल रोक लगाकर दोषी पर कार्यवाही करने की बात कही गई।

इनका कहना है

पूरा मामला मेरे संज्ञान में है, अगर उक्त शासकीय भूमि पर चोरी छिपे निर्माण किया जा रहा है तो उसे तोड़वा दिया जाएगा।

कमलेश पुरी, एसडीएम जैतहरी

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR