Responsive Ad Slot

ताजा खबर

latest

सजहा वेयर हाउस में भंडारित गेहूं के बाद अब चावल, चना, उड़द तथा मसूर भी हुआ खराब

सजहा वेयर हाउस में भंडारित गेहूं के बाद अब चावल, चना, उड़द तथा मसूर भी हुआ खराब

Saturday, July 4, 2020

/ by News Anuppur


सजहा गोदाम क्रमांक 15 में रखे समस्त खाद्यान्न वितरण पर लगा प्रतिबंध

इंट्रो- विंध्या इरेक्टर्स प्राइवेट लिमिटेड (सजहा वेयर हाउस) में भंडारित खाद्यान्न गेहूं के बाद अब चावल, चना, मसूर, उड़द को भी बिना देखरेख व समय पर कीटोपचार नही करते हुए खराब कर दिया गया है, जो अब वितरण योग्य नही बचा है। इतनी बड़ी मात्रा में एमपी स्टेट सिविल सप्लाईज कार्पोरेशन का खाद्यान्न खराब हो जाना सजहा वेयर हाउस के संचालक पर कई प्रश्नचिन्ह खड़ा कर रहा है। वहीं म.प्र. वेयर हाउस काॅर्पोरेशन अनूपपुर की शाखा प्रबंधक सुश्री प्रीति शर्मा, नागरिक आपूर्ति जैतहरी के केन्द्र एस.के. गर्ग से सजहा वेयर हाउस के संचालक पंकज तिवारी ने मिलीभगत कर फ्यूमीगेशन और अपग्रेडेशन का खेल खेलते हुए जमा और भुगतान का कार्य कराया जा रहा है। जबकि सजहा वेयर हाउस में भंडारित खाद्यान्नों में 19 हजार 860 क्विंटल 38 किलो गेहूं, 870 क्विंटल चावल सहित 1 हजार 132 क्विंटल चना, 1 हजार 172 क्विंटल मसूर, 9 क्विंटल उड़द पूरी तरह से खराब हो चुके है।  


अनूपपुर। तहसील अनूपपुर अंतर्गत ग्राम सजहा में संचालित मेमर्स विंध्या इरेक्टर्स प्रा.लि. निजी गोदाम क्षमता 10 हजार मैट्रिक टन को म.प्र. वेयर हाउस एंड लाॅजिस्टिक काॅर्पोरेशन अनूपपुर द्वारा संयुक्त भागीदारी योजना के तहत अनुबंधित किया गया है, जिसमें एमपी स्टेट सिविल सप्लाईज काॅर्पोरेशन अनूपपुर द्वारा पीडीएस एवं उपार्जित खाद्यान्न का भंडारण कराया गया है। जहां सजहा गोदाम में भंडारित खाद्यान्न गेहूं, चावल, चना, मसूर तथा उड़द का सजहा वेयर हाउस के संचालक द्वारा समय-समय पर कीटोपचार नही किए जाने के कारण गरीबों का खाद्यान्न खराब होने पर अब तक कोई कार्यवाही नही हो सकी है। वहीं इस कोरोना काल में इतनी बड़ी लापरवाही और लगातार भोपाल सहित उच्चाधिकारियों के निर्देश की अव्हेलना करते हुए सजहा वेयर हाउस में जमा और भुगतान के कार्यो को जारी रखा गया है। जहां गोदाम में भंडारित गेहूं आटा फाॅरमेशन में बदल गया है, वहीं चावल ब्रुकस कीट से इंफेक्टेड होकर खराब हो गया है।

गोदाम के भंडारण शुल्क से होगी वसूली

सजहा वेयर हाउस के संचालक के समय-समय पर कीटोपचार नही किए जान के कारण गोदाम में भंडारित खाद्यान्न के खराब हो जाने की स्थिति पर उक्त खाद्यान्न की कीमत की वसूली गोदाम के भंडारण शुल्क से किए जाने का प्रवधान है, जहां पर अब तक वेयर हाउसिंग काॅर्पोरेशन द्वारा किसी तरह के निर्देश नही दिए गए है। वहीं 22 जून को एसडीएम अनूपपुर कमलेश पुरी द्वारा की गई जांच में सजहा वेयर हाउस के संचालक द्वारा समय पर कीटोपचार न कराए जाने से गेहूं खराब होना पाया गया, जिस पर मेमर्स विंध्या इरेक्टर्स प्रा.लि. के संचालक व वेयर हाउस शाखा प्रबंधक द्वारा म.प्र. वेयर हाउस एंड लाॅजिस्टिक काॅपोर्रेशन भोपाल द्वारा जारी संयुक्त भागीदारी योजना 2020-21 (क्रमांक/मप्रवेलाका/जेव्हीएस/वणिज्य/2020-21/7555 भोपाल दिनांक 14 फरवरी 2020) की कंडिका 8.3, 9.5 व 9.6 का स्पष्ट उल्लंघन पाया गया है, जहां प्रतिवेदन कार्यवाही हेतु कलेक्टर को भेजा गया है।

गेहूं हुआ आटा फाॅरमेशन, फिर भी चल रहा कीटोपचार

सजहा वेयर हाउस में भंडारित खाद्यान्न बिना देखरेख के कारण पूरी तरह से खराब हो गया। जहां संचालक द्वारा खाद्यान्न की सुरक्षा के लिए निरंतर अंतराल पर न तो दवा का प्रयोग किया गया और न ही फ्यूमीगेशन व कीटोपचार किया गया। जिसके कारण गोदाम क्रमांक 15 डी के स्टेक नंबर 2, 3, 9 सहित अन्य स्थानों पर भंडारित 19 हजार 860 क्विंटल 38 किलो गेहूं आटा फाॅरमेशन में बदल गया। जिसके बाद सजहा गोदाम संचालक को खराब गेहूं की याद आते ही उसका कीटोपचार करना प्रारंभ कर दिया गया है। जबकि नियमानुसार गेहूं के आटा फाॅरमेशन होने के पश्चात उस पर लगे कीटो पर दवाईयों का कोई असर नही पड़ता है। लेकिन इस पूरे मामले में म.प्र. वेयर हाउस काॅर्पोरेशन अनूपपुर की शाखा प्रबंधक सुश्री प्रीति शर्मा एवं सजहा वेयर हाउस के संचालक सहित नागरिक आपूर्ति जैतहरी के केन्द्र एस.के. गर्ग द्वारा मिलीभगत कर जिले के अधिकारियों को गलत एवं भ्रामक जानकारी देते हुए खराब हो चुके खाद्यान्न को पीडीएस में भेजकर गरीबों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने की योजना बना रखे है।

15 नंबर गोदाम में भंडारित खाद्यान्न के वितरण पर लगा प्रतिबंध

पूरे मामले में 4 जुलाई को म.प्र. स्टेट सिविल सप्लाईज काॅर्पोरेशन अनूपपुर के जिला प्रबंधक ने सजहा गोदाम नंबर 15 में भंडारित खाद्यान्न के वितरण पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। जानकारी के अनुसार उपमहाप्रबंधक गु.नि. भोपाल के निर्देशन पर नाॅन अनूपपुर के जिला प्रबंधक ने म.प्र. वेयर हाउसिंग एंड लाॅजिस्टिक्स कार्पो. अनूपपुर के शाखा प्रबंधक सुश्री प्रीति शर्मा को पत्र लिख निर्देश दिए गया है कि सजहा गोदाम क्रमांक 15 में भंडारित वर्ष 2019-20 का गेहूं कीटग्रस्त हो जाने के कारण उचित मूल्य की दुकान से शिकायत प्राप्त होने के परीपेक्ष्य में भंडारित गेहूं के स्टेक क्रमांक 15बी3, 15बी4, 15बी5, 15बी6, 15बी7, 15बी8, 15बी9, 15बी10, 15बी11, 15बी12 एवं 15सी7, 15सी8, 15डी3,92, 15ई12 को आगामी आदेश तक प्रतिबंधित किया है। जिससे सार्वजनिक वितरण प्रणाली में कीटग्रस्त स्कंध का वितरण राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत दंडनीय है।
   
इनका कहना है

सजहा वेयर हाउस में भंडारित खाद्यान्न की जांच खाद्य एवं औषधि विभाग से करवाई जाएगी, जांच के बाद दोषी व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।

नरेश पाल, कमिश्नर शहडोल

'
Don't Miss
© all rights reserved
made with NEWSANUPPUR